मोटिवेशनल लेक्चरर और टीचर ब्रैड कोहन को पसंद आई ‘हिचकी’, रानी मुखर्जी के अभिनय को सराहा

नई दिल्ली: अमेरिका के मोटिवेशनल वक्ता और शिक्षक ब्रैड कोहन का कहना है कि फिल्म ‘हिचकी’ में निर्देशन सिद्धार्थ पी. मल्होत्रा और अभिनेत्री रानी मुखर्जी ने बेहतरीन काम किया है। फिल्म ‘हिचकी’ कोहन की किताब ‘फ्रंट ऑफ द क्लास’ पर ही आधारित है। इस किताब में टॉरेट सिंड्रोम से जूझते उन्हें उनके एक बेहतरीन शिक्षक बनने तक के सफर का उल्लेख है। यशराज फिल्मस (वाईआरएफ) ने शुक्रवार को अटलांटा में कोहन के लिए फिल्म के लिए विशेष स्क्रीनिंग रखी थी।

 कोहन ने कहा, “सिड (सिद्धार्थ)..अद्भुत। अभूतपूर्व! आपने ‘हिचकी’ में बेहतरीन काम किया है। मुझे दोस्तों, परिवार और साथी शिक्षाविदें के साथ यह फिल्म देखने का मौका मिला। सभी ने इस फिल्म को पसंद किया।”
इस फिल्म को न सिफ समीक्षकों ने बल्कि खुद ऑडियंस ने भी पसंद किया है। बता दें, इस फिल्म में दिखाया गया है कि रानी का किरदार न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर से पीड़ित है।  इस बीमारी के चलते उन्हें अपने आम जीवन में कई तरह की मुसीबतों का सामना करना पड़ता है, लेकिन अपनी कड़ी मेहनत और लगन के चलते वो अपने जीवन में कामयाबी हासिल करती हैं।

फिल्म में सबसे ज्यादा रानी की ही सराहना की जा रही।  ऑडियंस के अनुसार, रानी इस फिल्म की जान है और उनके कारण ही ये फिल्म और भी स्पेशल बनकर सामने आई है।

बात करें रानी मुखर्जी की तो वें अपने किरदार के साथ पूरी तरह न्याय करती हैं। इस फिल्म में उन्होंने टॉरेट सिंड्रोम से पीड़ित नैना माथुर के रोल को पूरी तरह जिया है। साथी कलाकारों के आवश्यक सहयोग के बावजूद फिल्म को रानी पूरी तरह अपने कंधों लेकर चलती हैं और यह पूरी तरह उनकी फिल्म है। ब्लैक जैसी दमदार फिल्म कर चुकी रानी ने दिखा दिया कि वह इमोशनल रोल को पूरे दमखम के साथ कर सकती हैं।

Related Articles