‘सोनिया गांधी के इशारे पर नहीं, #DDCA पर सबकुछ अपनी मर्जी से किया’

kirti-1_1451279321नई दिल्ली। #DDCA मामले में एक बार फिर कीर्ति आजाद ने अरुण जेटली पर निशाना साधा है। पिछले  दिनों केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को संदेह के घेरे में लाने की वजह से भाजपा से कीर्ति आजाद को निलंबित कर दिया गया था। सांसद व पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद ने एक बार फिर कहा कि वह इस क्रिकेट निकाय में व्याप्त भ्रष्टाचार को बेनकाब करना चाहते हैं।

मैं #DDCA के भ्रष्‍टाचारियों को बेनकाब करना चाहता हूं

दरभंगा से भाजपा सांसद कीर्ति ने यहां संवाददाताओं को बताया कि मैंने कुछ भी पार्टी के खिलाफ नहीं किया है। मैं उन लोगों को बेनकाब करना चाहता हूं, जो डीडीसीए में भ्रष्टाचारी हैं। उन्होंने कहा कि मैंने तात्कालिक अध्यक्ष के सामने बहुत सी चीजें (भ्रष्टाचार मुद्दे पर) रखी थीं, लेकिन किसी को कोई फर्क नहीं पड़ा।

भाजपा के लिए वर्षो तक ‘निष्ठापूर्वक’ काम किया है

कीर्ति ने कहा कि सीरियस फ्रॉड इंवेस्टिगेशन ऑफिस (एसफआईओ) की रिपोर्ट है कि हम डीडीसीए से कई बार दस्तावेज उपलब्ध कराने के लिए कह चुके हैं, लेकिन कुछ ही कागजात उपलब्ध कराए गए हैं। कीर्ति ने क्रिकेट निकाय में निजी तौर पर एक जांच कराने का दावा करते हुए कहा कि मैं केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को बताना चाहूंगा कि मैं पहले ही जांच कर चुका हूं। यह खेलों से भ्रष्टाचार को समाप्त करने का एक प्रयास मात्र है। कीर्ति ने कहा कि उन्होंने भाजपा के लिए वर्षो तक ‘निष्ठापूर्वक’ काम किया और इससे ‘बहुत से लोगों को ईष्र्या होती है।’

मैं सोनिया के बहकावे में नहीं आया

कीर्ति आजाद ने कहा कि वो संसद में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बहकावे में नहीं आए थे। बल्कि स्पीकर ने उन्हें अपनी बात रखने के लिए कहा था। उन्होंने कहा, ‘मुझ पर ये हमला हुआ है कि मैं सोनिया गांधी के बहकावे में आ गया। मुझ पर हमला करो लेकिन स्पीकर के ऑफिस को निशाना मत बनाओ।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button