गाजीपुर को बड़ी सौगात, सांसद मनोज सिन्‍हा ने किया इस इंस्टीट्यूट का उद्धाटन

मनोज सिन्‍हालखनऊ/गाजीपुर। उत्तर प्रदेश में गाजीपुर से सांसद एवं रेल व संचार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनोज सिन्हा ने रविवार को एक बार फिर अपने संसदीय क्षेत्र की जनता को सौगात दी। उन्होंने गाजीपुर में क्षेत्रीय रेल प्रशिक्षण संस्थान एवं गाजीपुर सिटी स्टेशन पर नवनर्मित वाशिंग लाइन का उद्घाटन किया और कहा कि यह नवनिर्मित रेल प्रशिक्षण संस्थान भारतीय रेल के विकास को गति देगा।

गाजीपुर में क्षेत्रीय रेल प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित एक समारोह के दौरान मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए सिन्हा ने कहा कि इस क्षेत्र के विकास की एक कड़ी के रूप में गाजीपुर में क्षेत्रीय रेल प्रशिक्षण संस्थान का शिलान्यास 4 मई, 2015 को किया गया था, जो निर्धारित समयावधि में बनकर तैयार हो गया है और आज इस प्रशिक्षण संस्थान का उद्घाटन हो रहा है।

उन्होंने कहा कि देश एवं क्षेत्र के विकास में भारतीय रेल अपना अहम योगदान दे रही है। यह नवनिर्मित रेल प्रशिक्षण संस्थान भारतीय रेल के विकास को गति देगा। इस प्रशिक्षण संस्थान में रेलकर्मियों को गुणवत्तायुक्त आधुनिक प्रशिक्षण दिया जाएगा, जिससे रेलकर्मियों की कार्य कुशलता एवं दक्षता में निखार आएगा, जिसका लाभ रेल यात्रियों को संरक्षित एवं सुरक्षित यात्रा सुविधा के रूप में मिलेगा।

रेल राज्यमंत्री ने दावे के साथ कहा कि क्षेत्रीय रेल प्रशिक्षण संस्थान में पुरुष एवं महिला प्रशिक्षणार्थी कर्मियों के लिए अति आधुनिक शिक्षण कक्ष, हॉस्टल, भोजनालय, कम्प्यूटर कक्ष, कैफेटेरिया आदि उपयोगी कक्षों का निर्माण सुसज्जित रूप से कराया गया है। इस प्रशिक्षण संस्थान के निर्माण पर 21 करोड़ खर्च किए गए हैं। इस प्रशिक्षण संस्थान के बनने से गाजीपुर के विकास को गति मिलेगी।

सिन्हा ने कहा कि गाजीपुर में वाशिंग लाइन निर्माण के लिए 19.62 करोड़ की लागत से रेल मंत्रालय द्वारा वर्ष 2015 में स्वीकृति प्रदान की गई थी। वाशिंग लाइन निर्धारित समयावधि में पूरी गुणवत्ता के साथ तैयार किया गया है। इस वाशिंग लाइन के बन जाने से यहां से चलने वाली गाड़ियों का रखरखाव यहीं पर होगा।

उन्होंने कहा कि 400 मीटर लंबी इस वाशिंग लाइन में गाड़ियों की साफ-सफाई तथा अनुरक्षण का कार्य सुचारु रूप से किया जाएगा। इसके अलावा 1500 मीटर की स्टेब्लिंग लाइन का निर्माण कराया गया है, जिस पर गाड़ियों का रखरखाव सुविधाजनक रूप से होगा।

सिन्हा ने कहा कि रेल लाइनों का परिवर्तन, दोहरीकरण, विद्युतीकरण, स्टेशनों का आधुनिकीकरण तथा यात्री सुख-सुविधाओं के विकास को प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया जा रहा है। इस क्षेत्र की लगभग सभी छोटी लाइनों को बड़ी लाइन में बदला जा चुका है।

रेल राज्यमंत्री ने कहा कि पूवरेत्तर रेलवे के छपरा-इलाहाबाद, भटनी-औड़िहार, औड़िहार-जौनपुर, इंदारा-फेफना, मऊ-शाहगंज रेल खंडों का दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण का कार्य तीव्र गति से चल रहा है, जबकि औड़िहार से वाराणसी सिटी तक दोहरीकरण एवं वाराणसी से बलिया खंड के विद्युतीकरण कार्य किया जा चुका है। इस क्षेत्र के अन्य रेल खंडों पर चल रहे विद्युतीकरण कार्य शीघ्र पूरा कर लिए जाएंगे।

Related Articles