सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर को सांस लेने में दिक्कत, मुंबई के अस्पताल में भर्ती

भोपाल की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर को सांस लेने में दिक्कत होने के बाद उन्हें मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती कराया गया है

मध्य प्रदेश: भोपाल (Bhopal) की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर (MP Pragya Singh Thakur) को सांस लेने में दिक्कत होने के बाद उन्हें मुंबई (Mumbai) के कोकिलाबेन अस्पताल (Kokilaben Hospital) में भर्ती कराया गया। जहां पर उनका इलाज चल रहा है।

खबरों के मुताबिक पिछले महीने भी सांसद प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Singh Thakur) की तबीयत खराब होने पर उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सांसद बीते कुछ दिनों से लगातार बैठकें कर रही थीं। आज भी दिशा समिति की जिला पंचायत कार्यालय में बैठक आयोजिक की गई थी लेकिन उसके पहले ही उनकी तबीयत खराब हो गई।

सुर्खियों में आयीं सांसद

प्रज्ञा सिंह ठाकुर मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh)  के भोपाल में सीहोर लोकसभा क्षेत्र की सांसद हैं। उन्हें आतंकी आरोपों के लिए गिरफ्तारी का सामना करना पड़ा, लेकिन विशेष राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) द्वारा मकोका धारा के तहत आरोप छोड़ने के बाद उन्हे जमानत दे दी गई। वह तब सुर्खियों में आयीं जब साल 2008 में उन पर मालेगांव में हुए बम विस्फोंटों (Malegaon bomb blast)  में आरोपी बनाया गया था और उन्हें गिरफ्तार किया गया था।

साल 2019 के प्रयागराज कुम्भ के अवसर पर उन्हें ‘भारत भक्ति अखाड़े’ का आचार्य महामण्डलेश्वर घोषित किया गया था और अब वे ‘महामण्डलेश्वर स्वामी पूर्णचेतनानन्द गिरी’ के नाम से जानी जाती हैं।

यह भी पढ़ेड्रीम गर्ल ‘Hema Malini’ ने लगवाई वैक्सीन की पहली डोज, 5 राज्यों में 82% कोरोना Active case

प्रज्ञा सिंह ठाकुर का परिवार

सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर का जन्म 2 फरवरी 1970 को हुआ था। मध्य प्रदेश के भिंड में प्रज्ञा ठाकुर के पिता डॉ. चंद्रपाल सिंह एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक डॉक्टर थे और प्राकृतिक जड़ी बूटियों से मरीजों का इलाज करते थे। प्रज्ञा सिंह ठाकुर मध्यप्रदेश (भिण्ड जिला) के एक मध्यवर्गीय कुशवाहा राजपूत परिवार से हैं। उनके पिता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक एवं व्यवसाय से आयुर्वेदिक डॉक्टर थे।

परिवारिक पृष्ठभूमि के चलते वे संघ व विहिप से जुड़ीं व किसी समय सन्यास ले लिया। भोपाल में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़ी रहीं। इतिहास में परास्नातक प्रज्ञा हमेशा से ही दक्षिणपंथी संगठनों से जुड़ी रहीं। वे विश्व हिन्दू परिषद की महिला शाखा दुर्गा वाहिनी से जुड़ी थीं। भिंड के लाहार कॉलेज से इतिहास में स्नातकोतर तक पढ़ाई करने वाली प्रज्ञा को छात्र जीवन में एक मुखर वक्ता के तौर पर देखा जाता था।

यह भी पढ़ेफिर मंडराया Corona Virus का खतरा, राज्य के इस नगर में लगा कर्फ्यू

Related Articles