लघु उद्योगों को ध्यान में रखकर बनेगा 2016 का बजट

MSME GIC7
जीआईसी ग्राउंड में आयोजित तीन दिवसीय औद्योगिक प्रदर्शनी 2015 एमएसएमई एक्सपो का उदघाटन करते केन्द्रीय मंत्री राम शंकर कठेरिया

आगरा। इस वर्ष का बजट किसानों, लघु व कुटीर उद्योगों की समस्याओं और विकास को ध्यान में रखते हुए तैयार किया जाएगा। यह कहना है केन्द्रीय मंत्री राम शंकर कठेरिया का। जीआईसी ग्राउंड में आयोजित तीन दिवसीय औद्योगिक प्रदर्शनी 2015 एमएसएमई एक्सपो में मुख्य अतिथि के रूप में उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के आदेशानुसार जनवरी माह में विभिन्न प्रांतों के मंत्री 30 घंटे अपने क्षेत्र के गांवों और कस्बों में गुजारेंगे। उद्देश्य किसानों और लघु उद्यमियों की समस्याओं और उनके बेहतर विकास के विकल्पों का पता लगाना है। प्रधानमंत्री को सौंपी जाने वाली केन्द्रीय मंत्रियों की इसी रिपोर्ट के आधार पर 2016 का बजट निर्भर करेगा। यानि अगला बजट लघु उद्योगों को ध्यान में रखकर तैयार किया जाएगा।

प्रदर्शनी का उद्घाटन श्री कठेरिया व विशिष्ट अतिथि ब्रिगेडियर अमित मुखर्जी ने फीता काटकर किया। इस मौके पर ब्रिगेडियर अमित मुखर्जी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए जरूरी है कि न सिर्फ कुटीर और लघु उद्योगों को बढ़ावा दिया जाए बल्कि उनके उत्पाद की खपत को भी बढ़ाया जाए। उन्होंने बताया कि आगरा और अलीगढ़ में लघु उद्योग के रूप में तैयार प्रोडक्ट जब विदेशों में सप्लाई हो सकते हैं तो हमारे देश में क्यों नहीं।

एमएसएमई संस्थान के निदेशक पीके राठौर ने प्रदर्शनी को लघु उद्यमियों के लिए एक बेहतर प्लेटफार्म बताया। उन्होंने बताया कि ऐसा पहली बार है जब 14 पीएसयू (सरकारी व अर्धसरकारी कम्पनियां) लघु उद्यमियों के प्रोडक्ट को देखने के लिए प्रदर्शनी में मौजूद होंगी। एनएसआईसी के सीनियर ब्रांच मैनेजर संजय यादव ने कहा कि यह प्रदर्शनी लघु उद्यमियों व पीएसयू दोनों के लिए एक बेहतर प्लेटफार्म है, जहां विक्रेता और ग्राहक दोनों मौजूद होते हैं। सिडबी के एजीएम किरण राव मोरे ने क्रेडिट लिंक कैपिटल सब्सडि के बारे में जानकारी हुए कहा कि एडवांस टेक्नोलॉजी के उपकरणों के लिए 15 प्रतिशत तक की सब्सिडी है।

लघु उद्योग भारती के प्रदेशाध्यक्ष राकेश गर्ग ने कहा कि दुनिया की अर्थव्यवस्था में हमारे देश की भागीदारी 38 फीसदी तक थी जो आज मात्र 1.5 प्रतिशत पर सिमट गई है। यदि हम अपने देश को फिर से सोने की चिड़िया बनाना चाहते हैं तो हमें लघु उद्यमियों के महत्व को समझना होगा। पीपीजीसी के निदेशक आर पनीर सेल्विन ने भी अपने विचार रखे।

संचालन एमएसएमई के निदेशक आरके कपूर व धन्यवाद ज्ञापन लघु उद्योग भारती के ब्रज प्रांत अध्यक्ष दीपक अग्रवाल ने दिया। इस अवसर पर सतीश अग्रवाल, कैशव, अशोक कुलश्रेष्ठ, प्रमोद चौहान, अनुज सिंघल, मनीष गर्ग, संजीव चतुर्वेदी, विजय गुप्ता, राजीव बंसल आदि उपस्थित थे।

यह रहा खास

20151218_153217 (600 x 450)एशिया का सबसे बड़ा 8 फुट का जूता
बिग बून के श्रवण सिंह ने 50 कारीगरों की मदद से लगभग 6 माह में एशिया का सबसे बड़ा 8 फुट का जूता तैयार किया है। जिसकी कीमत लगभग 9 लाख है। उनका कहना है कि विश्व का सबसे बड़ा जूता बनाना चाहते हैं। अभी तक विश्व का सबसे बड़ा जूता 16 फीट का है।

20151218_153641 (600 x 450)

चाइना को मात दे रही है मुजफ्परनगर की पेपर कप मशीन
मुजफ्फरनगर की प्रितुल मशीन द्वारा लगभग 6 माह पहले तैयार की गई (भारत में पहली बार) पेपर कप मशीन चाइना की पेपर कप मशीन को मात दे रही है। प्रितुल मशीन के सेल्स एक्जीक्यूटिव हर्ष दुबे ने के अनुसार प्रदूषण व स्वास्थ्य की दृष्टि से हानिकारक प्लास्टिक व थर्माकॉल के कप पर रोक लगाने के उद्देश्य से अब पेपर कप मशीन को बढ़ावा मिल रहा है। लेकिन अभी तक चाइना की पेपर कप मशीन ही भारत में पेपर कप तैयार कर रही थी। जिसके पुर्जे खराब होने या सर्विस में काफी दिक्कतें आ रही थीं। यही वजह है कि मात्र 6 माह की अवधि में भारत के मुजफ्फरनगर में तैयार लगभग 50 से अधित पेपर मशीन बिक चुकी हैं।

20151218_153526 (600 x 450)आंखों की थकान दूर करेगा एलोवेरा से बना कूल मास्क
गर्मी में लू लगने से या फिर लगातार कंप्यूटर पर काम से आपकी आंखें थक जाती हैं और जलन मचती है तो आपकी इस समस्या को मात्र 100 रुपए में तीन साल के लिए छुटकारा मिल सकता है। औद्योगिक प्रदर्शनी में कानपुर के स्टॉल पर एलोवेरा से बना ऐसा कूल मास्क (चश्मा) है जो पांच मिनट आपकी आंखों पर रखने से आपकी सारी थकान को दूर कर देगा। इसमें मौजूद मैग्नेट आपकी आंखों के रक्त संचरण को नियमित कर जलन और थकान को दूर करेंगी। दिन भर इसे फ्रिज में रखिए और रात को सोने से पहले या दोपहर में पांच मिनट के लिए आंखों पर लगाइये। यह मास्क लगभग तीन वर्ष तक चलता है। खराब होने पर इसमें मौजूद एलोवेरा का हरा रंग बदलने लगता है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button