बॉलीवुड में अपनी धाक जमा चुके मुकेश सहनी ‘वीआईपी’ बनने से चूके

इस चुनाव में वीआईपी के 11 प्रत्याशी चुनावी समर में उतरे थे, जिनमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी समेत 11 प्रत्याशी शामिल थे।

पटना: बॉलीवुड में अपनी धाक जमा चुके ‘सन ऑफ मल्लाह’ के नाम से मशहूर विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी चुनावी रणभूमि के सिमरी बख्तिारपुर सीट पर वीआईपी बनने से चूक गये वहीं उनकी पार्टी के चार योद्धा ने जीत का परचम लहरा दिया।

वीआईपी के 11 प्रत्याशी चुनावी समर में उतरे थे

इस बार के विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के घटक दलों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), जनता दल यूनाइटेड (जदयू), हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) और वीआईपी शामिल है। इस चुनाव में वीआईपी के 11 प्रत्याशी चुनावी समर में उतरे थे, जिनमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश सहनी समेत 11 प्रत्याशी शामिल थे। चुनाव में मुकेश सहनी सिमरी बख्तियारपुर सीट पर जहां वीआईपी बनने से चूक गये वहीं उनकी पार्टी के चार योद्धाओं ने जीत का परचम लहरा दिया। बोचहा, गौराबौराम, साहेबगंज और अलीनगर सीट पर वीआईपी प्रत्याशी ने जीत हासिल की।

1759 मतों से मुकेश सहनी ‘वीआईपी’ बनने से रह गए

वर्ष 2019 में हुये लोकसभा चुनाव में खगड़िया सीट पर लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) प्रत्याशी महबूब अली कैसर से हारने के बाद मुकेश सहनी ने इस बार के विधानसभा चुनाव में सिमरी बख्तियारपुर सीट पर सांसद महबूब अली कैसर के पुत्र और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रत्याशी युसूफ सलाहउद्दीन से लोहा लिया। राजद प्रत्याशी युसूफ सलाहउद्दीन ने मुकेश सहनी को करीब 1759 मतों के अंतर से पराजित कर दिया।

आठ बार जीत का सेहरा अपने नाम कर चुके हैं राजद के ये दिग्गज

मुजफ्फरपुर जिले की बोचहा सीट से आठ बार जीत का सेहरा अपने नाम कर चुके राजद के दिग्गज नेता रमई राम को वीआईपी उम्मीदवार और पूर्व विधायक मुसाफिर पासवान ने 11268 मतों के अंतर से परास्त कर उनके नौं बार जीतने का सपना चूर कर दिया। वर्ष 2015 में निर्दलीय प्रत्याशी बेबी कुमारी ने राजद के रमई राम को 24130 मतों से पराजित कर सभी को चौंका दिया था। बोचहा सुरक्षित सीट से वर्ष 1972 में रमई राम ने इस क्षेत्र से पहली बार चुनाव जीता था। इसके बाद उन्होंने वर्ष 1980 ,1985,1990,1995, 2000, फरवरी 2005 और अक्टूबर 2005 ,वर्ष 2000 में चुनाव जीता है।

7280 मतों से शिकस्त देकर जीत का सेहरा अपने नाम किया

गौराबौराम सीट से वीआईपी की स्वर्णा सिंह ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी राजद के अफजल अली खान को 7280 मतों से शिकस्त देकर जीत का सेहरा अपने नाम कर लिया। दोनों प्रत्याशी पहली बार चुनावी रणभूमि में ताल ठोक रहे थे, जिसमें स्वर्णा सिंह ने बाजी मार ली। साहेबगंज विधानसभा सीट से वीआईपी के पूर्व विधायक राजू कुमार सिंह ने राजद प्रत्याशी और पूर्व मंत्री राम विचार राय को 15333 मतों के अंतर से मात दे दी। श्री राम विचार राय इस सीट पर 1990, 1995, 2000 और वर्ष 2015 में निर्वाचित हो चुके हैं। वहीं राजू कुमार सिंह ने फरवरी 2005, अक्टूबर 2005 और 2010 में इस सीट का प्रतिनिधित्व किया है।अलीनगर सीट से वीआईपी के मिश्री लाल यादव ने राजद के टिकट पर पहली बार चुनाव लड़ रहे विनोद मिश्रा को 3101 मतों के अंतर से परास्त कर दिया।

वहीं वीआईपी की अन्य छह सीट ब्रह्मपुर से जयराज चौधरी, मधुबनी से सुमन कुमार महासेठ, बनियापुर से वीरेंद्र कुमार ओझा, सुगौली से रामचंद्र सहनी, बहादुरपुर से लखन लाल पंडित और बलरामपुर से वरुण कुमार झा को पराजय का सामना करना पड़ा।

ये भी पढ़ें : बिहार चुनाव में 26 महिला उम्मीदवारों ने लहराया जीत का परचम

Related Articles

Back to top button