पकड़े गए मुन्ना भाई, पीईटी की परीक्षा में शामिल थे सॉल्वर गैंग, एसटीएफ ने दबोचा

कौशाम्बी: पीईटी की परीक्षा उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा आयोग कराता है। यूपी के हर जिले में यह प्रतियोगिता बीते मंगलवार को आयोजित की गई थी। यूपी के प्रयागराज जिले के स्पेशल टॉस्क फोर्स ने पीईटी 2021 की परीक्षा में सॉल्वर गैंग के चार सदस्यों को कौशाम्बी के ओसा महाविद्यालय के परीक्षा केंद्र से गिरफ्तार करके बड़ी सफलता हासिल की है। पुलिस ने जब उन्हें गिरफ्तार किया तो वहां से उनके अन्य साथी भाग निकले। इनके पास से चार ब्लूटूथ, माइक डिवाइस और डिवाइस लगी बनियान बरामद हुई है।

ओसा महाविद्यालय के पास गिरफ्तार

एटीएफ को इस बात की सूचना मिली थी कि पीईटी की परीक्षा में ओसा महाविद्यालय के परीक्षा केंद्र के पास सॉल्वर गैंग के लोग मौजूद हैं। एसटीएफ ने गिरोह के चार सदस्यों को धर दबोचा। गिरोह के अन्य सदस्य मौका पाकर भाग निकले। पकड़े गए सदस्यों से पुलिस पूछताछ कर रही है. पेट की परीक्षा प्रदेश के हर जिले में आयोजित की गई थी। तमाम सुरक्षा के बावजूद सॉल्वर गैंग के लोग अपने काम को अंजाम देने के लिए परीक्षा केंद्र पर पहुंच गए थे।

ब्लूटूथ और माइक डिवाइस मिले

सॉल्वर गैंग के पकड़े गए सदस्यों के नाम राहुल सिंह,अभिषेक सिंह और उदय शंकर सिंह हैं। एक अन्य पंकज कुमार को यूपी एसटीएफ की प्रयागराज यूनिट ने गिरफ्तार किया। इन सभी की गिरफ्तारी कोतवाली क्षेत्र मंझनपुर (कौशांबी) से की गई। साल्वर गैंग के सदस्यों के पास से चार ब्लूटूथ, माइक डिवाइस और डिवाइस लगी बनियान मिली है। सरगना धर्मेंद्र से पूछताछ में पता चला कि 69 हजार शिक्षक भर्ती परीक्षा में धांधली का मास्टरमाइंड केएल पटेल व उत्तराखंड में तैनात एजी ऑफिस का ऑडीटर अमित वर्मा उसके साथी हैं।

Related Articles