मुजफ्फरपुर की घटना समाज कल्याण विभाग की लापरवाही का परिणाम है : सी.पी. ठाकुर

पटना| वरिष्ठ भाजपा नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री सी.पी.ठाकुर ने मुजफ्फरनगर के आश्रय गृह में 34 नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्कर्म से जुड़े मामले में रविवार को बिहार की समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के इस्तीफे की मांग की। सी.पी. ठाकुर ने कहा, “मंजू वर्मा को उनके विभाग के तहत चलाए जा रहे आश्रय गृह में जो हुआ उसकी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देना चाहिए।”

मुजफ्फरपुर मामले के बीते महीने सामने आने के बाद ठाकुर भाजपा के पहले नेता हैं जिन्होंने मंजू वर्मा के इस्तीफे की मांग की है। ठाकुर ने हैरानी जताई कि यह कैसे संभव है कि इस तरह का अपराध हुआ और समाज कल्याण विभाग को इसकी कोई जानकारी नहीं थी।

उन्होंने कहा, “मुजफ्फरपुर की घटना समाज कल्याण विभाग की लापरवाही का परिणाम है।” ठाकुर ने कहा कि जब उन्हें घटना के बारे में जानकारी हुई तो वह आश्रय गृह जाना चाहते थे। लेकिन, यह स्तब्ध करने वाला मामला मीडिया की हेडलाइन बन गया।

अब तक सिर्फ राजद, कांग्रेस व वाम पार्टियों ने मंजू वर्मा के इस्तीफे व मामले में कथित तौर पर उनके पति की संलिप्तता को लेकर गिरफ्तारी की मांग की है। सीबीआई आश्रय गृह दुष्कर्म मामले की जांच कर रही है। मुजफ्फरनगर आश्रय गृह में नाबालिगों से दुष्कर्म का मामला टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज मुंबई द्वारा आश्रय गृह के किए गए सोशल ऑडिट के आधार पर बिहार समाज कल्याण विभाग द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद सामने आया।

Related Articles