म्यांमार: न्यायाधीश ने पत्रकारों के खिलाफ फैसले को 3 सितंबर तक किया स्थगित

0

म्यांमार। म्यांमार में एक न्यायाधीश ने हिरासत में रखे गए रॉयटर्स के दो पत्रकारों के खिलाफ फैसले को सोमवार को 3 सितंबर तक के लिए स्थगित कर दिया। दोनों पत्रकार रखाइन राज्य में रोहिंग्या मुसलमान अल्पसंख्यकों के उत्पीड़न की घटनाओं पर रिपोर्ट तैयार कर रहे थे।संवाददाता वा लोन व क्याव सोय ओ को म्यांमार के शासकीय गोपनीयता अधिनियम के उल्लंघन का दोषी करार दिए जाने पर अधिकतम 14 साल की जेल की सजा का सामना करना पड़ सकता है।

पत्रकारों को दो पुलिसकर्मियों से मुलाकात के बाद 12 दिसंबर 2017 की रात को गिरफ्तार किया गया। प्रतिवादियों के अनुसार इन पुलिसकर्मियों ने कथित तौर पर उन्हें गोपनीय दस्तावेज सौंपे थे।

इन दोनों को तब से बिना जमानत के हिरासत में रखा गया है और अदालत के समक्ष करीब 30 बार प्रस्तुत किया गया है। मामले की जांच 9 जनवरी से शुरू हुई और आरोप औपचारिक रूप से 9 जुलाई को दाखिल किए गए थे।

पुलिस कप्तान मोए यान नाइंग ने अप्रैल में गवाही दी थी कि एक वरिष्ठ अधिकारी ने उसे व उसके अधीनस्थों को वा लोन को गुप्त दस्तावेज देने का आदेश दिया था। गिरफ्तार पत्रकार रखाइन में दर्जनों रोहिंग्याओं की हत्या की जांच कर रहे थे।

loading...
शेयर करें