नरेंद्र सिंह तोमर को राज्य सभा की कार्यवाही से हटाया गया, कांग्रेस पर दिया था ये बयान

नई दिल्ली: केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के एक बयान की वजह से बड़ा नुकसान उठाना पड़ा है। राज्यसभा (Rajya Sabha) में कृषि कानूनों पर बहस करते हुए उन्होंने ‘खून की खेती’ करने वाला बयान दिया था जिसके बाद उन्हें कार्यवाही से हटाया दिया गया है। राज्‍यसभा (Rajya Sabha) में नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषि कानूनों पर हो रही चर्चा में कहा था कि खेती करने के लिए पानी की जरूरत पड़ती है, बीजेपी खून की खेती नहीं करती है ये तो बस कांग्रेस करना जानती है। बस इसी बयान पर कांग्रेस नाराज हो गई और हंगामा किया था, जिसके बाद उन्हें राजसभा में कार्यवाही से हटाया गया। हालांकि बाद में इस बयान पर कृषि मंत्री ने सफाई भी दी।

नरेंद्र सिंह तोमर ने दी सफाई

वहीं सदन में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने विरोध जताया था। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने भी कृषि मंत्री तोमर के बयान पर जवाब दिया था। इस बयान की शिकायत मिलने के बाद राज्यसभा के सभापति के निर्देश पर सदन की कार्यवाही के रेकॉर्ड से नरेंद्र सिंह तोमर को हटाया गया। हालांकि बाद में इस बयान पर कृषि मंत्री ने सफाई भी दी। उन्होंने कहा, मैंने यह बयान इसलिए दिया था क्योंकि कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने मेरे भाषण के समय खून की खेती वाला डॉक्यूमेंट दिखाया था।

ये भी पढ़ें : जो किसानों के साथ नहीं हम उनके साथ नहीं: Jayant Chaudhary

नरेंद्र सिंह तोमर इस वजह से मैंने उसके जवाब में कहा था कि खेती करने के लिए पानी की जरूरत पड़ती है, बीजेपी खून की खेती नहीं करती है ये तो बस कांग्रेस करना जानती है। इसके आगे उन्होंने कहा जिस तरह से आज यहां राज्य सभा चल रही ठीक ऐसे ही लोकसभा भी चलनी चाहिए। फिर वहां पर विपक्ष इस बात को समझे और उम्मीद करता हूं कि लोकसभा भी ऐसी ही चलेगी।

ये भी पढ़ें : गाजीपुर बॉर्डर पर दिखी गांधीगिरी, कांटो की जगह पर राकेश टिकैत ने लगाए फूल

Related Articles

Back to top button