Naresh Tikait ने दी चेतावनी Sanjeev Balyan को और कहा- शहर में पैर नहीं रखने देंगे

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने मंच से बोलते हुए केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान को चेतावनी देते हुए कहा, 'बालियान होने के नाते या तो वह इस मामले को निपटा ले, वरना अगर मुंह से एक जुबान भी निकालने की कोशिश की तो शहर में पैर भी नहीं रखने देंगे

उत्तर प्रदेश : उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में भारतीय किसान यूनियन के नेताओं पर दर्ज मुकदमे पर बवाल शुरू हो गया है।  BKU ने BJP के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और केंद्रीय मंत्री Sanjeev Balyan को चेतावनी देते हुए कहा- कि मुकदमा वापस ले लो, वरना शहर में पैर नहीं रखने देंगे।

क्या था मामला जानें

तीन दिन पहेले उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से कुछ किलो मिटर पहेले सिसौली गांव में बीकेयू का गढ़ में बीजेपी विधायक उमेश मलिक की गाड़ी पर बीकेयू कार्यकर्ताओं और किसानों ने हमला बोल दिया था। इस मामले में बीजेपी के द्वारा भौराकलां थाने में 9 नामज़द और कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुक़दमा दर्ज कराया गया था।

sanjeev balyan
sanjeev balyan

जाने सिसौली गांव में क्या हुआ

मंगलवार को सिसौली गांव में हर महीने की तरह एक मासिक पंचायत का आयोजन किया गया था, जिसमें जनपद के किसानों और बीकेयू कार्यकर्ताओं ने बड़ी संख्या में हिस्स लिया था,  इस मंचायत में 5 सितम्बर को होने वाली महापंचायत की रणनीति बनाई गई और बीजेपी विधायक हमले के मामले में दर्ज हुई रिपोर्ट पर भी खूब भाषण बाज़ी हुई।

Naresh Tikait
Naresh Tikait

जाने नरेश टिकैत ने क्या बोला

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने मंच से बोलते हुए केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान को चेतावनी देते हुए कहा, ‘बालियान होने के नाते या तो वह इस मामले को निपटा ले, वरना अगर मुंह से एक जुबान भी निकालने की कोशिश की तो शहर में पैर भी नहीं रखने देंगे।’  आगे कहेते हुए कहा- कि आज हम सब कुछ है और जो चाहे वो कर देंगे, इसलिए जिसने रिपोर्ट करी उसे इज्जत से बैठा लो, नहीं तो इस मामले में यह  गिरफ़्तारी हो नहीं सकती चाहे जो कर लो,

नरेश टिकैत की माने तो उन्होंने संजीव बालियान और उमेश मालिक को गांव में आने से परहेज करने को कहां था, लेकिन वो नहीं माने नरेश टिकैत ने कहा कि महापंचायत में सब कोई आएगा, कोई किसी की जबरदस्ती नहीं है, किसान हित की बात है, किसानों की लड़ाई लड़ रहे हैं, यह तो जिम्मेदारी है, इसमें कोई दबाव नहीं है।   भारतीय किसान यूनियन के नरेश टिकैत के बयान से गठवाला खाप के लोग खफा हो गए हैं।  गठवाला खाप के चौधरी राजेंद्र मलिक की अध्यक्षता में मंगलवार को एक मीटिंग स मीटिंग में 10 दिन के अंदर नरेश टिकैत को अपने बयान को वापस लेने की मोहतल दी गई है।  गठवाला खाप के चौधरी बाबा राजेंद्र मलिक ने कहा कि 10 दिन के बाद अगर बयान वापस नहीं लिया जाता तो गठवाला खाप सभी 36 बिरादरियों के साथ मिलकर खाप चौधरियों के साथ एक पंचायत करेगा।

यह भी पढ़ें:साढ़े सात साल बाद मिली राहत, सुनंदा पुष्कर मौत मामले में Shashi Tharoor बरी

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles