नारी निकेतन मामला : तीन दिन में 8 संवासिनियां दून अस्पताल में भर्ती

utt-sanwasini-1

देहरादून। राजधानी में नारी निकेतन संवासिनी मामले में रोज कुछ न कुछ नया सामने आ रहा है। मंगलवार को नारी नारी निकेतन पहुंचकर डॉक्टरों की टीम ने संवासिनियों का चेकअप किया तो तीन और संवासिनियों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। इससे पहले सोमवार को भी दून अस्पताल में चार संवासिनियों को भर्ती कराया गया था।  हालांकि एक संवासिनी रजिया पहले से ही भर्ती थी। इस तरह तीन दिनों में कुल आठ संवासिनियों को दून अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि इससे पहले दो संवासिनियों की बीमारी की वजह से मौत हो चुकी है। डॉक्टरों के मुताबिक दून अस्पताल में भर्ती सभी संवासिनियों की हालत स्थिर है। वहीं, दून अस्पताल में भर्ती संवासिनियों के लिए आइसोलेशन (अलग) वार्ड भी बना दिया गया है। इस वार्ड में हीटर, गर्म कपड़ों और विशेष देखभाल की व्यवस्था की गई है।

utt-dun hospital-1

जांच समिति नारी निकेतन में अब तक हुई संवासिनियों की मौत से जुड़े सभी रिकार्ड को खंगालकर मौत के कारणों का पता लगाने में जुटी हुई है। रिकार्ड जुटाने के बाद उसका विश्लेषण कर पता लगाया जाएगा कि आखिर नारी निकेतन संवासिनियों के लिए कब्रगाह में कैसे बदला। हाल ही में दो संवासिनियों की मौत के मामले को गंभीरता से लेते हुए सीएम हरीश रावत ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी भी गठित की थी। बता दें कि बीते दो सालों में नारी निकेतन में 10 संवासिनियों की मौत हो चुकी है। इतना ही नहीं बीते दो दिन में ही हुई दो संवासिनियों की मौत से आंकड़ा 12 पर पहुंच गया। इन मौतों ने इतना तूल पकड़ लिया कि पूरी व्यवस्था और प्रबंधन पर सवाल उठ रहे हैं।

ये भी पढ़ें – नारी निकेतन मामला : सरकार ने भी पहली बार मानी गलती

utt-sanwasini-6

मामले की संवेदनशीलता देखते हुए सीएम हरीश रावत ने शनिवार को एडीएम झरना कमठान के अधीन तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की। जांच कमेटी में मुख्य चिकित्सा अधिकारी और जिला समाज कल्याण अधिकारी भी शामिल हैं। जांच कमेटी आज से जांच का काम शुरू करने वाली है। कमेटी एक महीने में नारी निकेतन में अब तक हुई मौतों के कारणों, प्रशासनिक व्यवस्था में सुधार के कारणों पर रिपोर्ट जिलाधिकारी के माध्यम से सरकार को सौंपेगी।

ये भी पढ़े : संवासिनी की मौत से नारी निकेतन फिर घेरे में, सीेएम ने दिये जांच के आदेश

utt-dun hospital-5

इन बिंदुओं का खाका हुआ है तैयार

– पहले सप्ताह अब तक हुई मौतों का रिकार्ड एकत्रित किया जाएगा

– दूसरे सप्ताह में एकत्रित रिकार्ड का संकलन कर विश्लेषण होगा

– इसके बाद एकत्रित जांच रिकार्ड के आधार पर दर्ज होंगे बयान

– संवासिनियों को उपलब्ध करवाई गई सुविधाओं का आंकलन होगा

– खामियों के साथ प्रस्तावित सुधार और दोषियों का चिन्हीकरण भी

utt-dun hospital-6

स्वास्थ्य जांचों का खंगाला जाएगा रिकार्ड

एडीएम झरना कमठान के मुताबिक नारी निकेतन में रह रही संवासिनियों की समिति मेडिकल जांच भी करवायेगी। विस्तृत जांच की रिपोर्ट तैयार करने के साथ उनकी इससे पहले हुई स्वास्थ्य जांचों का संकलन भी किया जाएगा। स्वास्थ्य सुविधाएं सुधारने के लिए समिति अलग से रिपोर्ट तैयार कर सरकार को सौंपेगी। विस्तृत रिपोर्ट में प्रस्तावित सुधारों की संस्तुति के अलावा जिम्मेदारी भी सुनिश्चित की जाएगी। समिति वहां त्वरित किये जाने वाले सुधारों से भी जिला प्रशासन को अवगत करायेगी।

ये भी पढ़ें – संवासिनियों की हालत सुधारने को सीएम ने उठाए तीन अहम कदम

utt-dun hospital-8

आप और भाजयुमो का प्रदर्शन

वहीं राजधानी के नारी निकेतन में सवासियों की मौत के मामले में प्रदेश में सियासी रंग चढ़ना शुरु हो गया है। नैनीताल में इस मामले पर भाजपा युवा मोर्चा ने एडीएम कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया, वहीं आप कार्यकर्ताओं ने भी प्रदेश सरकार का पुतला फूंककर विरोध जताया। युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं ने एडीएम के माध्यम से सीएम को ज्ञापन भेजकर उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। वहीं आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं ने दोनों संवासनियों की मौत की सीबीआई जांच की मांग की है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button