कथाकार मानस दिनकर का हुआ निधन

मानस दिनकर के नाम से ख्याति प्राप्त पंडित दिनेश मिश्र मानस कथा में गत पांच दशक से सक्रिय थे।

जौनपुर: आकाशवाणी कथाकार लोक पक्ष के सशक्त हस्ताक्षर महान रामकथा कार पूज्य पाद प्रेम आचार्य जी महाराज के कृपा पात्र रामकथा के राष्ट्रीय प्रवचन कार पंडित दिनेश कुमार मिश्र ‘मानस दिनकर’ का गुरुवार को निधन हो गया।
वह 72 साल के थे। नगर के मियांपुर मोहल्ले में स्थित पैतृक निवास पर दिन में लगभग एक बजे दिल का दौरा पड़ा और उनका तत्काल मृत्यु हो गया।
मानस दिनकर के नाम से ख्याति प्राप्त पंडित दिनेश मिश्र मानस कथा में गत पांच दशक से सक्रिय थे।

मानस कथा के एक पाठ का अंत हो गया

उनके कथा को सुनने के लिए भारी भीड़ जमा होती थी। उनके कथन की शैली अत्यंत हृदय स्पर्शी रहती थी। कथा वाचन में वह मजाकिया लहजे में कई गम्भीर बातों को मंच के माध्यम से प्रस्तुत करते हुए श्रोताओ के दिल में धार्मिक भाव का संचार करने की कला में महारत हासिल किये थे। उनके निधन के वजह से जिले में मानस कथा के एक अध्याय का अंत हो गया।

उनके निधन पर प्रदेश के राज्यमंत्री गिरीश चन्द्र यादव सांसद श्याम सिंह यादव विधायक बदलापुर रमेश चन्द्र मिश्र विधायक मडियाहू लीना तिवारी पूर्व विधायक सुरेंद्र प्रताप सिंह नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष दिनेश टंडन आदि लोगो ने गहरा दुःख व्यक्त किया है।
मानस प्रचारिणी सभा जौनपुर ने मानस दिनकर के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि सभा ने अपने एक योग्यतम कथा वाचक को खोकर मर्माहत है। वह जिले के मानस सभा के लिए अनमोल धरोहर थे।

यह भी पढ़े: रूस में सड़क दुर्घटना में हुए इतने लोगों की मौत

Related Articles