NASA: स्वाति मोहन के नेतृत्व में अमेरिका को मिली बड़ी सफलता, मंगल पर जीवन की करेंगे तलाश

मंगल पर जीवन तलाशने के लिए दुनियाभर के वैज्ञानिक रिसर्च पर लगे हुए हैं।

नई दिल्ली: मंगल पर जीवन तलाशने के लिए दुनियाभर के वैज्ञानिक रिसर्च पर लगे हुए हैं। इसी बीच अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा के पर्सीवरेंस मार्स रोवर ने बुधवार-गुरुवार की करीब रात 3 बजे बजे मंगल पर सफल लैंडिंग कर ली। यह मंगल की सबसे खतरनाक जगह जजीरो क्रेटर पर उतर गया। नासा का यह नौवां मंगल मिशन था। 1970 के दशक के बाद नासा का यह नौंवा मंगल मिशन था। सबसे बड़ी बात यह उपलब्धि भारतीय-अमेरिकी मूल की वैज्ञानिक डॉ. स्वाति मोहन की लीडरशिप में हासिल हुई। रोवर ने नासा की पहली तस्वीर भेजी है।

नासा की जेट प्रोपल्सन लेबोटरी के इंजीनियरों ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि मार्स-2020 पर्सीवरेंस मिशन फलतापूर्वक मंगल पर उतर गया। यह एक बेहद महत्वाकांक्षी मिशन है। रोवर को किसी ग्रह की सतह पर उतारना अंतरिक्ष विज्ञान का सबसे जोखिमभरा कार्य होता है।

मंगल पर पानी होने का दावा

रोवर जिस जजीरो क्रेटर नामक जगह पर उतरा, वैज्ञानिक मानते हैं कि इस जगह पर कभी पानी हुआ करता था। पर्सीवरेंस रोवर लाल ग्रह से चट्‌टानों के नमूने भी लेकर आएगा। पर्सीवरेंस रोवर के साथ एक हेलिकॉप्टर भी गया है। इसका नाम है-इंजीन्यूटी। बता दें कि यह नाम इसे भारतीय मूल की वनीजा रूपाणी(18) ने दिया है।

नासा के मुताबिक, पर्सीवरेंस मार्स रोवर और इंजीन्यूटी हेलिकॉप्टर मंगल पर कार्बन डाई-ऑक्साइड से ऑक्सीजन बनाने का काम करेंगे। इस मिशन को पूरा करने के लिए पिछले 10 सालों से काम चल रहा था। इसे 2019 में ही कोरोना काल के समय में लांच किया गया था। यह अब तक के मिशन का सबसे एडवांस रोवर है।

आपको बता दे कि पृथ्वी से मंगल ग्रह की दूरी 29.25 करोड़ मील है।
स्वाति मंगल पर Perseverance की लैंडिंग के दौरान Jet Propulsion Laboratory से लाइव कॉमेंट्री कर रही थी। स्वाति बचपन से अमेरिका में रह रही हैं। इन्होंने मैसेच्यूसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से ऐरोनॉटिक्स/ऐस्ट्रोनॉटिक्स में PhD की है। इससे पहले स्वाति शनि के Cassini और चांद के GRAIL मिशन के लिए काम कर चुकी हैं। से Perseverance मिशन के लिए काम कर चुकी हैं। से Perseverance मिशन के साथ 2013 से जुड़ी हैं।

यह भी पढ़ें: Shopian Encounter: आतंकवादियों ने लोगों को बनाया होस्टेजे, 3 Terrorist ढेर

Related Articles

Back to top button