नासा ने खोज निकाली ब्रह्मांड की सबसे दूर स्थित आकाशगंगा

0

वाशिंगटन। बीते दिनों अन्तरिक्ष में आठ ग्रहों वाला नया सौरमंडल खोजने वाले नासा के वैज्ञानिकों ने अब एक ऐसी आकाशगंगा तलाशी है, जो ब्रह्मांड में सबसे दूर है। बताया जा रहा है कि इस पृथ्वी से आकाशगंगा की दूरी करीब 2,500 प्रकाशवर्ष है। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह आकाशगंगा लगभग 50 करोड़ वर्ष पुरानी है जो सितारों का एक आदिम क्लस्टर है। वैज्ञानिकों ने इसकी खोज हबल और स्पिट्जर स्पेस टेलीस्कोप से की है।

वैज्ञानिकों ने टेलीस्कोप के माध्यम से ब्रह्मांड में एक गहन सर्वेक्षण किया। इस सर्वेक्षण में उन्होंने गुरुत्वाकर्षण लेंसिंग नामक एक घटना के द्वारा एसपीटी0615-जेडी नाम की आकाशगंगा की तस्वीरें लीं, जो घटती और बढ़ती दिखाई दीं। हालांकि वैज्ञानिकों को यह आकाशगंगा केवल लाल और गुलाबी रंग में नजर आई।

गुरुत्वाकर्षण लेंसिंग नामक एक अजीब घटना के कारण वैज्ञानिकों को किसी भी अन्य की तुलना में इस प्राचीन आकाशगंगा को बड़ा और उज्ज्वल देखा है। यह नई आकाशगंगा मिल्की वे का केवल 1/100 बताई जा रही है। वैज्ञानिकों ने जूम लेंस प्रभाव का प्रयोग कर दूर की आकाशगंगाओं की विस्तृत तस्वीरें लीं, जो आज की दूरबीनों से दिखाई नहीं दे पातीं।

एसपीटी0615-जेडी को हबल के रीयनायनाइजेशन लेंसिंग क्लस्टर सर्वे (रेलिक्स) और सह एस-रेलिक्स स्पिट्जर प्रोग्राम में पहचाना गया। रेलिक्स को ऐसी दूर की आकाशगंगाओं को पहचानने के लिए ही डिजाइन किया गया है।

loading...
शेयर करें