नासा ऐतिहासिक मिशन के लिए तैयार, पढ़ेगा अब मंगल का दिल

नई दिल्ली। अभी तक केवल आपने मंगल ग्रह के बारे में सुना होगा, लेकिन आज हम आपको एक ऐसी चीज़ बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप हैरान हो जाएंगे। जी हां, आज हम आपको मंगल के दिल के बारे में बताने जा रहे हैं। कहा जा रहा है जल्द ही नासा मंगल के दिल को पढ़ने की तैयारी करने वाला है। इसे नासा का पहला मिशन कहा जा रहा है।

नासा के इस मिशन के बारे में कहा जा रहा है अगर यह सफल रहा तो बहुत सारे छुपे हुए रहस्य है जो सामने आ जाएंगे। लाल ग्रह से जुड़े हुए कई रहस्यों का पता लगाने के लिए इस मिशन का आगाज़ किया गया है। ग्रह के अंत: संरचना के अध्ययन के लिए नासा का मिशन इसी हफ्ते उड़ान भरेगा।

इनसाइट को कल शाम 4:35 पर कैलिफोर्निया में वांडेनबर्ग एयरफोर्स बेस के स्पेस लांच कॉम्प्लेक्स 3 से यूनाइटेड लॉन्च अलाइंस (यूएलए) एटलस पांच रॉकेट से छोड़ा गया। यह मंगल की गहन अंत: संरचना का अध्ययन करेगा कि कैसे पृथ्वी और उसके चंद्रमा समेत सभी चट्टानी ग्रह बने।

नासा ने खुद इसकी जानकारी देते हुए विस्तार से बताया है। भूकंपीय जांच, भूमंडल को मापने के शास्त्र और ऊष्मा के आवागमन का इस्तेमाल करते हुए इंटीरियर एक्सप्लोरेशन अमेरिका के वेस्ट कोस्ट से जाने वाला पहला ग्रहीय मिशन है।

बात करें अमेरिका के अधिकतर अंतरग्रहीय की तो यह अक्सर मिशन फ्लोरिडा में कैनेडी स्पेस सेंटर से ही रवाना किया जाते हैं। इस जगह के बारे में बता दे तो यह देश के ईस्ट कोस्ट में स्थित है। अंतरिक्ष में क्यूबसेट तकनीक का यह पहला परिक्षण होगा।

Related Articles