नासा का मार्स रोवर रेतीले तूफान की वजह से पड़ा खतरे में

वाशिंगटन: अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने गुरुवार को कहा कि मंगल पर रेतीले तूफान से नासा के सौर-संचालित ‘अपॉर्चुनिटी रोवर’ का अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। अपॉर्चुनिटी परियोजना प्रबंधक जॉन कैलास ने बुधवार देर रात कहा, “हम चिंतित हैं लेकिन हम आशा करते हैं कि तूफान बंद हो जाएगा और रोवर से हमारा संवाद सक्षम हो पाएगा।”

नासा तूफान के आने के बाद से रोवर की ट्रांसमिशन क्षमता कमजोर हुई है। तूफान की वजह से इसके ऊर्जा के मुख्य स्रोत सूरज की रोशनी भी नहीं मिल पा रही है। नासा के अनुसार, “ऐसा लग रहा है कि रोवर स्वत: ही पावर-सेविंग मोड में चला गया है, जिससे उसके अधिकतर फंक्शन ठप पड़ गए हैं।”

रोवर को बर्फीले मंगल ग्रह पर ठीक से काम करने के लिए अपने तापमान को बनाए रखना जरूरी है। वैज्ञानिकों को पता नहीं है कि तूफान कब खत्म होगा और रोवर केवल तभी नई सौर ऊर्जा का सृजन करेगा, जब उसेक सिस्टम सही से काम करते रहेंगे। ‘अपॉर्चुनिटी रोवर’ 2004 में मंगल ग्रह पर उतरा था और यह लाल ग्रह के अतीत के बारे में काफी खोज कर चुका है।

Related Articles