IPL
IPL

9km प्रति सेकंड के Speed से आ रहा ये उल्कापिंड, NASA की पैनी नजर

धरती की तरफ विशाल उल्कापिंड काफी तेजी से साथ बढ़ रहा हैं। यह ऐस्टरॉइड का आकार बहुत ही बड़ा है। इस वजह से Nasa के वैज्ञानिक इस ऐस्टरॉइड ‘AF8’ पर लगातार नजर बनाए हुए है।

नई दिल्ली: धरती की तरफ विशाल उल्कापिंड काफी तेजी से साथ बढ़ रहा हैं। यह ऐस्टरॉइड का आकार बहुत ही बड़ा है। इस वजह से Nasa के वैज्ञानिक इस ऐस्टरॉइड ‘AF8’ पर लगातार नजर बनाए हुए है। वैज्ञानिकों के मुताबिक 4 मई को यह ऐस्टरॉइड धरती के पास से गुजरेगा।

ऐस्टरॉइड्स या उल्कापिंड किसे कहते है?

ऐस्टरॉइड्स को उल्कापिंड भी कहा जाता है। NASA को मुताबिक 140 मीटर चौड़ी हर उस चीज को ऐस्टरॉइड मानती है जो आने वाले भविष्य में पृथ्वी के 50 लाख मील के दायरे में आने की संभआवना है। NASA का मानना है ऐसे करीब 22 उल्कापिंड हैं जो आने वाले 100 सालों में धरती के करीब आ सकती हैं और इसके टक्कराने की भी संभावनाएं हो सकती हैं।

आपको बता दें, ऐस्टरॉइड 2021 ‘AF8’ 580 मीटर के आकार का हैं। वैज्ञानिकों ने सबसे पहले मार्च महीने में इस ऐस्टरॉइड का पता लगाया था। अभी तक अंतरिक्ष में पृथ्‍वी के पास से गुजरे ऐस्‍टरॉइड की अपेक्षा यह 2021 AF8 काफी छोटा है लेकिन फिर भी वैज्ञानिकों ने इसे बेहद खतरनाक बताया है। सबसे बड़ी बात है कि 2021 AF8 ऐस्टरॉइड 9 किमी प्रति सेकंड की रफ्तार से पृथ्‍वी के पास से गुजर रहा है।

ये सबसे खतरनाक ऐस्टरॉइड्स

खगोल वैज्ञानिकों ने बताया कि यह ऐस्‍टरॉइड धरती से करीब 34 लाख किलोमीटर की दूरी से सुरक्षित गुजरेगा। इस ऐस्‍टरॉइड को नासा ने खतरनाक ऐस्‍टरॉइड की श्रेणी में रखा है। दरअसल NASA का Sentry सिस्टम लगातार ऐसे ही खगोलीय खतरों पर नजर रखता है। इस 22 उल्कापिंड के लिस्ट में सबसे पहला और सबसे बड़ा ऐस्टरॉइड 29075 (1950 DA) जो 2880 तक नहीं आने वाला है।

यह भी पढ़ें

इसका आकार अमेरिका की एम्पायर स्टेट बिल्डिंग का भी तीन गुना ज्यादा है और एक समय में माना जाता था कि पृथ्वी से टकराने की इसकी संभावना सबसे ज्यादा है।

Related Articles

Back to top button