नसीरूद्दीन ने दी सफाई, कहा एक भारतीय चिंतित के तौर पर दिया था बयान

नई दिल्ली। असहनशीलता पर नसीरूद्दीन शाह के बयान का इतना भारी विरोध हुआ कि शुक्रवार को अमेर साहित्य सम्मेलन में उनका कार्यक्रम का स्थगित करना पड़ा। उनके वहां पहुंचने से पहले हिंदूवादी संगठनों ने सम्मेलन स्थल पर उनके पोस्टर पर स्याही फेंकी और जमकर नारेबाजी की. नसीर को फेस्टिवल का उद्घाटन करना था। मुख्य भाषण देना था औऱ अपनी किताब को रिलीज करना था लेकिन हंगामे की वजह से वह नहीं आए।

बाद में उन्होंने कहा कि जो मैंने जो पहले कहा वह एक चिंतित भारतीय के तौर पर कहा था। मैं यह पहले भी कह चुका हूं। इस बार मैंने ऐसा क्या कहा कि मुझे गद्दार कहा जा रहा है। यह बेहद अजीब है?

इस मामले को लेकर सियासत तब गर्मा गई जब उप्र नवनिर्माण सेना यूपीएनएस के अध्यक्ष अमित जानी ने कहा कि नसीरूद्दीन को अगर भारत में डर  लगता है तो उन्हें पाकिस्तान चले जाना चाहिए। उन्होने दावा किया कि यूपीएनएरस ने नसीरूद्दीन के लिए पाकिस्तान का 14 अगस्त का हवाई टिकट बुक करा दिया है, जो उनके घर भेजा जा रहा है।

Related Articles