राष्ट्रीय मतदाता दिवसः अब दफ्तर जाने की जरूरत नहीं घर बैठे बनवाएं वोटर आईडी कार्ड

0

विशेषः शायद सभी को मालूम होगा कि 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के रूप में मनाया जाता है। चुनाव आयोग की तरफ से हर साल यह दिन अपने मतदाताओं को जागरूक करने और नये वोटरों को आकर्षित करने के लिहाज से मनाया जाता है, ताकि  अधिकाधिक बनवाकर नागरिक चुनाव के वक्त अपने मताधिकार का जरूर प्रयोग करें।

आपको बता दें कि समय के साथ-साथ चुनाव आयोग भी काफी हाईटेक हो गया है। अब मतदाताओं की सुविधा के लिए आयोग ने वेबसाइट, ऐप के अलावा सोशल मीडिया पर भी अपनी उपस्थिति दर्ज कर दी है। अब मतदाता घर बैठे अपना नाम वोटर लिस्ट में जुड़वा सकते हैं। साथ ही वोटर आईडी कार्ड भी घर बैठे बनवाने की व्यवस्था आयोग द्वारा कर दी गई हैं।

ज्यादा से ज्यादा मतदाता अपने मत का इस्तेमाल करे इसके लिए चुनाव आयोग ने नए मतदाताओं का वोटर आईडी कार्ड बनाने की प्रक्रिया को शुरू भी कर दी है। अबकी बार भारत के बाहर रह रहे अनिवासी भारतीय भी चुनाव आयोग की वेबसाइट पर जाकर के पंजीकरण करा सकते हैं।

यदि आप भी 18 साल से ऊपर के हैं और अपना वोटर आईडी कार्ड बनवाना चाहते हैं  तो आप अब अपने घर पर बैठकर ही स्मार्टफोन या लैपटाप की मदद से ही वोटर कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। एक महीने के समयांतराल में आपको अपना वोटर आईडी कार्ड भी मिल जाएगा ।

वोटर आईडी कार्ड बनवाने से पहले आपके पास पर्सनल ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर होना चाहिए।
सबसे पहले आप चुनाव आयोग की वेबसाइट https://www.nvsp.in/ पर जाए, । ऑप्शन पर क्लिक करते ही आपके सामने एक पेज खुलेगा जिस पर आप अपनी सभी जानकारी सावधानीपूर्वक भरें। वोटर आईडी कार्ड बहुत ही महत्वपूर्ण होता है इसलिए कोई भी गलत जानकारी भरने से बचें। गलत जानकारी देने पर चुनाव आयोग आपको सजा के तौर पर जेल भी भेज सकता है। इसमें आपको अपनी कलर पासपोर्ट साइज फोटो जो कि वाइट बैकग्राउंड में होनी चाहिए वो भी अपलोड करनी होगी।

फॉर्म सेव करने के बाद आप इसको सबमिट कर दें। सबमिट करने के 15 दिन तक आप अपनी डिटेल्स में बदलाव कर सकते हैं।और स्टेटस भी ऑनलाइन चेक भी कर सकते हैं। इसके बाद चुनाव आयोग की तरफ से नियुक्त आपके एरिया का बूथ लेवल ऑफिसर (बीएलओ) आपके घर पर आएगा और जिन डॉक्यूमेंट्स को आपने अपलोड किया है उनको चेक करेगा और इन डॉक्यूमेंट्स की हार्ड कॉपी को वैरिफाई करने के लिए ले जाएगा। इसके बाद एक माह के अंदर बाईपोस्ट आपके घर पर वोटर आई-डी कार्ड पहुंच जाएगा।

इसके लिए आपको एड्रेस प्रूफ और आईडी प्रूफ में अलग-अलग डॉक्यूमेंट्स की कॉपी अपलोड करनी पड़ेगी। इसके लिए आप आधार कार्ड, पासपोर्ट, दसवीं की मार्कशीट, बर्थ सर्टिफिकेट, पैन कार्ड, ड्राईविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, बैंक की पासबुक, फोन/पानी/बिजली/गैस का बिल, इनकम टैक्स का फॉर्म 16 आदि में से किन्हीं दो डॉक्यूमेंट्स की स्कैन कॉपी को अपलोड कर सकते हैं।

अगर आपका वोटर आईडी कार्ड पहले से बना हुआ है, लेकिन आप उस जगह पर रहते नहीं है तो भी आप नए पते पर इसको भी आप बदलावा सकते हैं। ऐसा होने से आपको केवल वोट देने के लिए अपने मूल स्थान पर नहीं जाना होगा। चुनाव आयोग ने खासतौर पर नौकरीपेशा लोगों को यह राहत दी है, जिसके कारण अब उन्हें वोट डालने के लिए छुट्टी लेकर के नहीं जाना पड़ेगा। इसके बाद https://electoralsearch.in/##resultArea पर जाकर आप मतदाता सूची में अपना नाम देख सकते हैं।

 

 

 

loading...
शेयर करें