हिमाचल प्रदेश में कुदरत का कहर, 9 लोगों की मौत, इतने लापता

हिमाचल प्रदेश में पिछले 24 घंटों में दो स्थानों पर अचानक आई बाढ़ में कम से कम 9 लोगों की मौत हो गई और 7 लोग लापता हो गए हैं

शिमला: हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में पिछले 24 घंटों में दो स्थानों पर अचानक आई बाढ़ में कम से कम 9 लोगों की मौत हो गई और 7 लोग लापता हो गए हैं। आपदा प्रबंधन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी है।

जिला मुख्यालय केलांग से करीब 15 किलोमीटर दूर लाहौल-स्पीति जिले के उदयपुर अनुमंडल में तोजिंग नाले में अचानक आई बाढ़ में 7 बह गए है। वहीं दूसरी ओर चंबा जिले में 2 लोगों की मौत हो गई। राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के विशेष सचिव सुदेश मोख्ता ने बताया कि लाहौल-स्पीति में अचानक आई बाढ़ से लापता 3 लोगों का पता लगाने के लिए तलाशी अभियान जारी है और 2 को बचा लिया गया है।

 

यातायात बाधित

कुल्लू (Kullu) जिले के मणिकर्ण में उफनती पार्वती नदी में दिल्ली के एक पर्यटक समेत 4 लोगों की डूबने से मौत हो गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि मनाली-लेह राजमार्ग (Manali-Leh Highway) पर भी बड़े पैमाने पर भूस्खलन के कारण यातायात बाधित हुआ है। हाईवे पर सैलानियों समेत कई वाहन फंस गए हैं। हिमाचल के मंडी शहर से आगे कई जगहों पर भूस्खलन के कारण चंडीगढ़ से मंडी-कुल्लू-मनाली राष्ट्रीय राजमार्ग भी बाधित हो गया है।

 पर्यटकों के लिए एडवाइजरी

भारी बारिश के चलते सीमा सड़क संगठन (BRO) ने मनाली-लेह हाईवे और मनाली-उदयपुर हाईवे को बंद कर दिया है। पर्यटकों और स्थानीय लोगों को अगले आदेश तक मनाली से केलांग होते हुए लेह की ओर जाने पर रोक लगा दी गई है। सरकार ने पर्यटकों और स्थानीय लोगों के लिए एक सलाह या एडवाइजरी जारी की है कि वे ऊंचे पहाड़ों, नदियों के पास घूमने और भूस्खलन के लिए संवेदनशील स्थानों से दूर रहें।

यह भी पढ़ेमछली पालन शुरू करने से पहले पढ़ें पूरी खबर, सरकार मत्स्य संपदा योजना के तहत करेगी मदद

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles