बंगाल की खाड़ी में भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाओं का युद्धाभ्यास, दिखाया अपना कौशल

भारतीय नौसेना के पाँच युद्धपोत, एक सबमरीन ने संयुक्त युद्धाभ्यास में भाग लिया है। इसी महीने में दूसरे चरण का युद्धाभ्यास अरब सागर में होना है। इस युद्धाभ्यास को चीन के लिए एक चेतावनी के तौर पर देखा जा रहा है।

नई दिल्ली: भारत की नौसेना ने पहली बार अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया तीनों देशों के साथ युद्धाभ्यास किया। चारों देशों का यह युद्धाभ्यास बंगाल की खाड़ी में हुआ। यह युद्धाभ्यास मालावार एक्सरसाइज का पहला चरण था।

भारत का एक सबमरीन और पाँच युद्धपोत शामिल

भारतीय नौसेना के पाँच युद्धपोत, एक सबमरीन ने संयुक्त युद्धाभ्यास में भाग लिया है। इसी महीने में दूसरे चरण का युद्धाभ्यास अरब सागर में होना है। इस युद्धाभ्यास को चीन के लिए एक चेतावनी के तौर पर देखा जा रहा है।

बंगाल की खाड़ी में हुआ भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाओं का संयुक्त युद्धाभ्यास, दिखाया अपना कौशल

चीन की विस्तारवादी नीति को चेतावनी

जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका और भारत के चारों देशों के जंगी जहाजों ने अपने युद्ध नीतियों के कौशल का प्रदर्शन किया। चारों देश ऐसे समय में युद्धाभ्यास कर रहे हैं जब चीन हिंद-प्रशांत क्षेत्र में अपनी विस्तारवादी नीति को विस्तार देने में लगा है।
चार लोकतांत्रिक देश की नौसेनाओं का एक साथ युद्धाभ्यास करना चीन को सीधी चेतावनी है। इस युद्धाभ्यास की शुरूआत 3 नवंबर को हुई थी।

कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरा पालन

नौसेनाओं के युद्धाभ्यास कोविड-19 प्रोटोकॉल्स के अन्तर्गत किये गए। कोरोना वायरस महामारी के कारण पूरी एक्सरसाइज को नॉन-कॉन्टेक्ट-एट-सी फॉर्मेट के तहत किया गया। चारो देशों ने एक्सरसाइज के दौरान अपने जंगी बेड़ों से युद्ध की परिस्थितियां बनाकर युद्धाभ्यास किया। नौसेनाओं ने दूर से अपनी युद्ध नीतियों का प्रदर्शन किया।

मालाबार एक्सरसाइज के पहले अभ्यास में सबमरीन सिंधु, वॉरशिप शिवालिक, डिस्ट्रॉयर रणविजय, ऑफशोर पेट्रोल शिप सुकन्या, और फ्लीप सपोर्ट शिप आईएनएस ने हिस्सा लिया था। यह पहली बार है कि चार देशों की नौसेनाओं ने एक साथ किसी युद्धाभ्यास में भाग लिया है।

अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के मिसाइल भी हुए शामिल

अमेरिका की ओर से नौसेना की मिसाइल डिस्ट्रायर शिप जॉन-एस-मैक्केन ने तो ऑस्ट्रेलिया की लंबी रेंज की वॉरशिप बैलारात और एमएच-60 हेलीकॉप्टर्स ने बंगाल की खाड़ी में अपने हुनर का प्रदर्शन किया। वहीं जापान की मैरिटाइम सेल्फ डिफेंस ने भी मालाबार एक्सरसाइज में अपने शक्ति को दर्शाया।

ये भी पढ़ें : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा- “आत्मनिर्भर भारत की सफलता के लिए नवाचार जरूरी”

Related Articles

Back to top button