कारगिल युद्ध पर नवाज शरीफ का बड़ा बयान, सेना को नहीं मिला पर्याप्त मात्रा में भोजन और हथियार

पाकिस्तान: पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कारगिल युद्ध पर एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि जिस वक्त कारगिल में युद्ध चल रहा था उस वक्त पाकिस्तानी सैनिकों के पास ना ही पर्याप्त मात्रा में हथियार थे ना ही उन्हें पर्याप्त मात्रा में खाने को भोजन मिल पाता था।

पीएमएल-एन के अध्यक्ष नवाज शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान की सेना ने नहीं बल्कि कुछ जनरलों ने सेना को बिनी किसी व्यवस्था के ही 1999 के कारगिल युद्ध में झोंक दिया। जहां उनके कई सैनिकों की जान चली गई और पाकिस्तान की काफी बेइज्जती हुई।

लंदन से, क्वेटा में पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट की तीसरी रैली को वीडियो कॉंफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए नवाज शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान की सेना को बिना हथियार मुहैया कराए लड़ने के लिए भेज दिया गया और उन्हें वहां पर्याप्त मात्रा में भोजन भी नहीं मिलता था। जब यह बात उन्हें पता चली तो उन्हें बहुत दुख पहुंचा था।

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ पर निशाना साधते हुए नवाज शरीफ ने कहा कि कुछ जनरलों ने सेना को ऐसे युद्ध में डाल दिया जहां से उन्हें कुछ हांसिल नहीं होने वाला था। अपनी गलती को छुपाने के लिए जनरलों ने 12 अक्टूबर 1999 में पाकिस्तान में मॉर्शल लॉ लागू कर दिया ताकि वो अपनी गलती को छुपा सकें।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री के इस बयान से जहां पर पाकिस्तान में राजनैतिक गर्मी बढ़ेगी वहीं दूसरी तरफ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी पाकिस्तान के लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं। कारगिल युद्ध के समय नवाज शरीफ ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री थे।

नवाज शरीफ ने जनरल बाजवा को भी घसीटते हुए कहा कि जनरल बाजवा ने पाकिस्तान की जनता के खिलाफ जाकर बिना उन सबकी मर्जी के इमरान खान को प्रधानमंत्री बनाया है। जनरल बाजवा और जनरल फैज हमीद को इसका जवाब पाकिस्तान की आवाम को देना होगा।

अपनी बात में शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान की तबाही और बर्बादी का कारण पाकिस्तानी फौज को ना समझा जाए इसलिए वे सारे जिम्मेदार किरदारों के नाम लेंगे। बाजवा को 2018 के चुनाव में जनता के साथ किए गए धांधली का जवाब पाकिस्तान की जनता को देना होगा।

पाकिस्तान में इमरान खान के खिलाफ 11 पार्टियां एक साथ हैं। रविवार को बलूचिस्तान के क्वेटा में दल की रैली की गई थी जिसमें बड़े-बड़े नेता शामिल हुए।

Related Articles

Back to top button