अब मदरसों में पढ़ाई जाएंगी ये किताबें, सरकार ला रही नया नियम

0

लखनऊ। योगी सरकार ने सत्ता में आने के बाद मदरसों के लिए कई नियम और कानून बनाये। अब सरकार ने इन मदरसों के लिए एक और फरमान जारी करने के मूड में है। सरकार मदरसों में अब एनसीईआरटी की किताबें लागू कर सकती है। साथ ही गणित, साइंस की पढ़ाई अनिवार्य हो सकती है।

-ncert-books-of-maths-and-science-will-compulsory-in-uttar-pradesh-madarsas

मदरसा बोर्ड के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता के मुताबिक, मौजूदा समय में कुल करीब 19 हजार से ज्यादा मदरसे बोर्ड में रजिस्टर्ड हैं। इन मदरसों में कक्षा-1 से कक्षा-12 तक एनसीईआरटी की किताबों से पढ़ाई की तैयारी चल रही है।

साथ ही उन्होंने बताया कि सभी विषय उर्दू में ही होने बस हिंदी और अंग्रेजी को छोड़कर। इसके साथ ही गणित, विज्ञान विषयों की किताबें उर्दू में बच्चों को पढ़ाई जाएंगीं। इसमें आलिया स्तर पर गणित और साइंस की पढ़ाई अनिवार्य करने का प्रस्ताव है।

ये भी पढ़ें…अब मदरसों में पढ़ाई जाएंगी ये किताबें, सरकार ला रही नया नियम

उन्होंने बताया कि इन मदरसों में अपने हिसाब से किताबें पढ़ाईं जातीं हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि एनसीईआरटी की किताबें पढ़ाने से मदरसों में पढ़ाई का स्तर सुधरेगा। उन्होंने कहा​ कि एनसीईआरटी की किताबों के इस्तेमाल के लेकर मदरसा बोर्ड प्रस्ताव तैयार कर रहा है, जल्द ही इसे मंजूरी के लिए सरकार के पास भेजा जाएगा।

राहुल गुप्ता ने कहा कि हमारी पूरी कोशिश है कि आधुनिक विषय पढ़ाकर मदरसे भी अन्य स्कूल के समक्ष आजायें। साथ ही बोर्ड इन मदरसों को को हाईटेक करने के लिए भी कोशिश में लगा है। अब तक यूपी के लगभग 19 हजार मदरसों को ऑनलाइन किया गया है।

आपको बता दें कि तय समय पर ऑनलाइन जानकारी न देने की वजह से यूपी सरकार ने 2682 मदरसों की मान्यता रद्द कर दी थी। ऑनलाइन अपडेशन में शिक्षक, अन्य स्टाफ, छात्रों के विवरण के अलावा भवन की फोटो, कक्षा का माप और दूसरी जानकारियां भी शामिल थीं।

loading...
शेयर करें