कर्जें तले दबी Jet Airways का Resolution plan स्‍वीकार, NCLT ने 90 दिन का दिया वक्‍त

नई दिल्ली: Jet Airways के Resolution plan को NCLT ने मंजूरी दे दी है. इसके साथ ही DGCA और एविएशन मिनिस्ट्री को कर्जें में डूबी Jet Airways के स्‍लॉट अलॉट करने के लिए 90 दिन का वक्‍त दिया है. बता दें कैलरॉक-जालान कंसोर्टियम ने Jet Airways का Resolution plan रखा था जिसके तहत वो पांच सालों में बैंकों, फाइनेंस इंस्टिट्यूट और एम्पलॉयज को 1200 करोड़ रुपये भुगतान करेंगे, वही इसकी 30 एयरक्राफ्ट के साथ Jet Airways की फुल सर्विस एयरलाइन के तौर पर स्‍थापित करने की योजना है.

Jet Airways के Resolution plan के अंतर्गत NCLT ने डायरेक्‍टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन ( DGCA ) और नागरिक उड्डयन मंत्रालय को कर्जें के बोझ तले दबी Jet Airways को स्‍लॉट अलॉट करने के लिए 90 दिन का वक्‍त दिया है. एक न्यूज़ चैनल को उनके सूत्रों ने यह जानकारी दी है. नेशनल कंपनीज लॉ ट्रिब्‍यूनल (NCLT) ने लंदन स्थित कैलरॉक कैपिटल और यूएई स्थित व्‍यवसायी मुरारी लाल जालान के कंसोर्टियम की ओर से भेजी गई Jet Airways resolution plan को मंजूरी दे दी है.

बता दें एक समय था जब एक समय था जब Jet Airways 120 प्‍लेंस का बेड़ा रखने वाले और दर्जनों घरेलू व सिंगापुर, लंदन और दुबई जैसे स्‍थानों पर इंटरनेशनल फ्लाइट संचालित करती थी पर कम्पनी को अप्रैल 2019 में अपनी सभी फेरे बंद करने को मजबूर होना पड़ा था. कॉम्पिटिटर एयरलाइन कंपनियों की फ्लाइट्स की कम कीमत के कारण इसे भारी घाटा उठाना पड़ा था. ऋणदाताओं की समिति (सीओसी) ने अक्टूबर, 2020 में ब्रिटेन स्थित कैलरॉक कैपिटल और यूएई स्थित उद्यमी मुरारी लाल जालान के गठजोड़ द्वारा प्रस्तुत समाधान योजना को मंजूरी दी थी. एनसीएलटी ने जून, 2019 में भारतीय स्टेट बैंक की अगुवाई वाले ऋणदाताओं के समूह द्वारा जेट एयरवेज के खिलाफ दायर दिवाला याचिका को स्वीकार किया था.

ये भी पढ़ें : ‘The Conversion’ आज के भारत की एक संवेदनशील कहानी है!

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 

Related Articles