पूर्व राष्‍ट्रपति नारायणन का रिकॉर्ड तोड़ पाएंगे रामनाथ कोविंद?, डालें एक नजर

0

नई दिल्ली। देश के नए राष्‍ट्रपति को चुनाव 17 जुलाई को हो चुका है। आज 20 जुलाई को संसद भवन में वोटों की काउं‍टिंग जारी है। एनडीए कैंडीडेट रामनाथ कोविंद की जीत पक्‍क्‍ी मानी जा रही है। वहीं यूपीए उम्‍मीदवार मीरा कुमार इसे विचारों की लड़ाई बता रही हैं।

एनडीए कैंडीडेट रामनाथ कोविंदएनडीए कैंडीडेट रामनाथ कोविंद के वोट प्रतिशत पर है सबकी नजर

यह तो सभी को पता है कि जीत रामनाथ कोविंद की होगी। लेकिन मामला यहां खत्‍म नहीं होता। मामले की शुरुआत यहीं से होती है। सब लोग जानना चाहते हैं कि जीत का वोट प्रतिशत क्‍या रहा।

यह भी पढ़ें  देश के नए महामहिम बनने वाले कोविंद के जीवन पर डालें…

इन आंकडों पर भी डालें एक नजर

इससे पहले के राष्‍ट्रपति चुनाव की बात करें तो वर्तमान राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी को 69 प्रतिशत वोट हासिल हुए थे। वहीं पी ए संगमा को करीब 31फीसदी वोट प्राप्‍त हुए थे। इसी तरह 2007 के चुनाव में प्रतिभा पाटिल को 6,38,116 यानि करीब 65% वोट मिले, भैरोसिंह शेखावत को 3,31,306 यानि करीब 35% वोट मिले.2002 के चुनाव में एपीजे अब्दुल कलाम को 9,22, 884 यानि करीब 89% वोट मिले, जबकि लक्ष्मी सहगल को 1,07,366 यानि 11% वोट मिले थे।

पूर्व राष्‍ट्रपति के आर नारायणन ने रचा था इतिहास

इसी तरह 1997 के चुनाव में के आर नारायणन को 9.56 लाख यानि करीब 95% वोट मिले, जबकि टीएन शेषन को करीब 50, 631 यानि सिर्फ 5% वोट मिले। साल 1992 के चुनाव में शंकर दयाल शर्मा को 6.75 लाख यानि 66% वोट मिले, जबकि जीजी स्वेल को 3.46 लाख, करीब 34% वोट मिले।

रामनाथ कोविंद रच सकते हैं इतिहास

माना जा रहा है कि रामनाथ कोविंद को 539 सांसदों के वोट मिले होंगे, जबकि मीरा कुमार को 229 सांसदों का वोट मिलेंगे। रामनाथ कोविंद को करीब 64% वोट मिलने का अनुमान है जबकि मीरा कुमार की झोली में करीब 36% वोट जा सकते हैं।

loading...
शेयर करें