NDA की 140वें कोर्स की पासिंग आउट परेड में 300 से ज्यादा कैडेट्स शामिल

नेशनल डिफेंस एकेडमी एकेडमी ने महाराष्ट्र के पुणे में 140वें कोर्स की पासिंग आउट परेड का आयोजन किया है, जिसमें नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह मौजूद रहे

पुणे: नेशनल डिफेंस एकेडमी एकेडमी (National Defence Academy) NDA ने महाराष्ट्र के पुणे (Pune) में 140वें कोर्स की पासिंग आउट परेड (Passing out Parade) आयोजित की है। जिसमें 300 से ज्यादा कैडेट्स की पासिंग आउट परेड चल रही है। इस मौके पर नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह और  रिव्यू-ऑफिसर मुख्य-अतिथि के रूप में मौजूद रहे।

नेशनल डिफेंस एकेडमी पुणे में नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने पासिंग आउट परेड के दौरान कहा कि आज के जटिल युद्धक्षेत्र में फोर्स के प्रभावी इस्तेमाल के लिए सशस्त्र बलों की संयुक्तता सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण है।

दीक्षांत समारोह

इससे पहले 140वें बैच का दीक्षांत समारोह(Convocation) शुक्रवार को आयोजित किया गया था। दीक्षांत समारोह में चीफ गेस्ट सिक्किम विश्वविद्यालय के चांसलर लेफ्टिनेंट जनरल DB शेकातकर थे। Convocation में कुल 215 कैडेट्स को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की डिग्री प्रदान की गई थी। जिसमें Science stream के 48 कैडेट, Computer science के 93 और Art के 74 कैडेट शामिल थे।

केरल के कन्नूर (Kannur) में भी इंडियन नेवल एकेडमी (Indian Naval Academy) में पासिंग आउट परेड चल रही है। वाइस एडमिरल अजेंद्र बहादूर सिंह (ईस्टर्न नेवल कमांड के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ) ने पासिंग आउट परेड का निरीक्षण किया है।

दुनिया की पहली त्रि-सेवा एकेडमी

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (NDA) भारतीय सशस्त्र बलों का संयुक्त रक्षा सेवा प्रशिक्षण संस्थान है, जहां तीन सेवाओं यानी भारतीय सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना के कैडेट एक साथ प्रशिक्षण के लिए संबंधित सेवा अकादमी में जाते हैं। NDA महाराष्ट्र के पुणे, खड़कवासला में स्थित है। यह दुनिया की पहली त्रि-सेवा अकादमी है।

NDA ने अब तक 27 सर्विस चीफ ऑफ स्टाफ भी तैयार किए हैं। थल सेना, नौसेना और वायु सेना के वर्तमान चीफ ऑफ स्टाफ एक ही पाठ्यक्रम से एनडीए के पूर्व छात्र हैं। 30 नवंबर 2019 को 137 वां कोर्स पास हुआ, जिसमें 188 सेना कैडेट, 38 नौसेना कैडेट, 37 वायु सेना कैडेट और मित्र देशों के 20 कैडेट शामिल थे।

यह भी पढ़ेChaudhary Charan Singh की 34वीं पुण्यतिथि पर जानें उनके जीवन की रोचक बातें, जेल में रहकर लिखे Book

Related Articles

Back to top button