एनडीआरएफ की टीम ने बिहार में चलाया कोरोना महामारी जागरुकता अभियान

पटना के बिहटा में स्थित एनडीआरएफ की नौवीं बटालियन के कमांडेंट विजय सिन्हा ने बुधवार 14 अक्टूबर को बताया कि बटालियन के बचावकर्मियों ने पूर्वी चम्पारण, सुपौल, सारण और पटना जिलों में कोविड-19 विषय पर जागरूकता कार्यक्रम चलाया है।

 

पटना: बिहार के पूर्वी चम्पारण, सुपौल, सारण और पटना जिले में कोरोना महामारी से बचाव के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की नौवीं बटालियन कोरोना महामारी से बचाव के लिए जन जागरूकता अभियान चला रही है।

कोरोना वायरस महामारी से बचाव के लिए दिलाई शपथ

पटना के बिहटा में स्थित एनडीआरएफ की नौवीं बटालियन के कमांडेंट विजय सिन्हा ने बुधवार 14 अक्टूबर को बताया कि बटालियन के बचावकर्मियों ने पूर्वी चम्पारण, सुपौल, सारण और पटना जिलों में कोविड-19 विषय पर जागरूकता कार्यक्रम चलाया है। उन्होंने बताया कि लोगों को कोरोना वायरस महामारी से बचाव के लिए शपथ भी दिलाया गयी। साथ ही झारखड के रांची और देवघर में जागरूकता अभियान चलाया गया। जिसमे कोरोना महामारी की महत्वपूर्ण जानकारियों से स्थानीय लोगों को जागरूक किया गया।

एनडीआरएफ की टीम ने लोगों को किया महामारी के प्रति जागरूक

सिन्हा जी ने बताया कि जागरूकता कार्यक्रम के दौरान लोगों को मास्क का इस्तेमाल करने तथा बार-बार हाथ धोने और दो गज कि दूरी एवं व्यक्तिगत दूरी का पालन करने के बारे में बता जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस जागरूकता अभियान के जरिये लोगों को बताया जा रहा है कि कोरोना संक्रमण का लक्षण मालूम पड़ने पर छुपाना नहीं है, बल्कि नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में चिकित्सकों से परामर्श लें और इलाज करना है। कोरोना वायरस से डरना नहीं है। बल्कि समझदारी और सूझबूझ के साथ खुद भी बचना है, और लोगो को भी बचाना है।

ये भी पढ़ें: एक्स्ट्रा जुडिशियल हत्या को न्यायालय कैसे रोक सकता है: सुप्रीमकोर्ट

Related Articles