नीट, जेईई मेंस की परीक्षा 2019 से होगी साल में दो बार आयोजित

0

नई दिल्ली। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार को घोषणा की कि वर्ष 2019 से राष्ट्रीय स्तर की इंजीनियरिंग और मेडिकल प्रवेश परीक्षा जेईई मेंस और नीट दो बार आयोजित की जाएंगी। इन परीक्षाओं को आयोजित कराने की जिम्मेदारी नवगठित नेशनल टेस्टिंग एजेंसी(एनटीए) को दी गई है। नवंबर 2017 में एनटीए को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी थी। इसका गठन उच्च शैक्षणिक संस्थानों की प्रवेश परीक्षाओं के आयोजन के लिए शैक्षणिक प्रणाली में बड़े सुधार के उद्देश्य से किया गया था।

नीट, जेईई मेंस

जावड़ेकर ने कहा, “नेशनल टेस्टिंग एजेंसी इस वर्ष परीक्षाएं आयोजित करेगी। छात्र एक वर्ष में दो बार परीक्षा दे सकते हैं और बेहतरीन स्कोर को मान्यता दी जाएगी।उन्होंने कहा कि एनटीए के अंतर्गत सभी परीक्षाएं ऑनलाइन होंगी और जहां कंप्यूटर केंद्र नहीं हैं, वहां इसे स्थापित किया जाएगा और छात्र अगस्त के अंत में या सितंबर में इसपर अभ्यास कर सकते हैं।

जावड़ेकर ने पत्रकारों से कहा, “जेईई-मेंस परीक्षा जनवरी और अप्रैल में आयोजित की जाएगी, जबकि नीट फरवरी और मई में दो बार आयोजित की जाएगी।जावड़ेकर ने कहा कि जेईई और नीट के अलावा, एनटीए राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा(नेट), सयुक्त प्रबंधन प्रवेश परीक्षा (सीमेट) और जीपेट की प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करेगी।

उन्होंने कहा कि लेकिन जेईई-एडवांस की परीक्षा आईआईटी ही आयोजित करेंगे।नेट परीक्षा भी अब वर्ष में दो बार जुलाई और दिसंबर में आयोजित होगी। इस वर्ष दिसंबर में होने वाली नेट की परीक्षा नवगठित निकाय के अधीन आयोजित होगा।जावड़ेकर ने कहा, “परीक्षाएं अब ज्यादा सुरक्षित होंगी। अब प्रश्नपत्रों के लीक होने की घटनाएं नहीं होंगी और यह छात्रों के अनुकूल, पारदर्शी, वैज्ञानिक होंगी। मंत्री ने कहा कि पाठ्यक्रम और परीक्षा शुल्क में कोई बदलाव नहीं होगा।

loading...
शेयर करें