NEET : काउंसेलिंग से पहले सीट ब्लॉक की तो देना होगा जुर्माना  

0

नई दिल्ली। मेडिकल कॉलजों में पहले से सीट ब्लॉक कर देने वाले स्टूडेंट्स पर सरकार एक बड़ा फैसला लेने जा रहा है। इस फैसले में कहा गया है कि अगले साल से नीट की काउंसेलिंग में अगर भी स्टूडेंट पहले से सीट ब्लॉक करता है तो उसपर 2 लाख तक का जुर्माना लगाया जाएगा। इतना ही नहीं उन्हें आगे भी काउंसेलिंग में शामिल होने नहीं दिया जाएगा।

NEET

बता दें, इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट द्वारा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का एक प्रस्ताव स्वीकार किया जाना है। वहीं सरकार चाहिती है कि जो स्टूडेंट्स एक से ज्यादा सीट ब्लॉक करते हैं उनसे मिलने वाली वेकंसी को कम कर दिया जाये।

बता दें, मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया की स्वीकार्यता के साथ मंत्रालय ने एक प्रस्ताव दिया है। इसके मुताबिक, जो स्टूडेंट्स मेडिकल और डेन्टल कॉलेजों में ऐडमिशन लेते हैं उनके लिए 2 लाख रुपये तक के रिफंडेबल रजिस्ट्रेशन फीस का प्रावधान होगा। इसके अलावा प्राइवेट डीम्ड कॉलेजों के लिए फीस 2 लाख रुपये और सरकारी कॉलेजों के लिए 25 हजार रुपये होगी।

वहीं, अगर स्टूडेंट इसमें एडमिशन ले लेता है तो इसे ट्यूशन फीस के साथ ही अडज्स्ट किया जाएगा। हालांकि स्टूडेंट्स से काउंसेलिंग के किस राउंड में जुर्माना लिया जाएगा या उन्हें आगे की काउंसेलिंग से रोका जाएगा यह तय नहीं हुआ है।

हालांकि अक्सर ऐसा होता है कि टॉप रैंक्स पाने वाले स्टूडेंट्स सीट पहले से ब्लाक कर लेते हैं। वहीं, जिन स्टूडेंट्स की रैंक नीचे होती है उन्हें नुकसान उठाना पड़ता है। ऐसे में अगर मंत्रालय द्वारा भेजा गया यह प्रस्ताव सुप्रीम कोर्ट स्वीकार कर लेती है तो स्टूडेंट्स पहले से सीट ब्लॉक नहीं कर सकेंगे।

loading...
शेयर करें