सरकार और किसानों की बातचीत फिर बेनतीजा, पांच दिसंबर को अगली बैठक

बैठक के बाद तोमर ने कहा कि बातचीत सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई और दोनों पक्षों ने तर्क के साथ अपनी अपनी बातें रखीं। उन्होंने कहा कि किसान संगठनों ने कई बिंदुओं को उठाया है

नई दिल्ली: किसान संगठनों ने दावा किया है कि सरकार ने तीनों कृषि सुधार कानूनों में संशोधन का संकेत दिया है किसान संगठन और सरकार के साथ हुई बैठक के बाद किसान संगठनों के नेताओं ने कहा कि सरकार ने कृषि सुधार कानूनों में संशोधन का आश्वासन दिया है। वे इन तीनों कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं।

किसान नेताओं ने कहा कि वे अपनी मांगें माने जाने तक आंदोलन जारी रखेंगे। आज कि बैठक में चालीस किसान नेताओ और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री पीयूष गोयल और वाणिज्य राज्य मंत्री ने हिस्सा लिया।

नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, “किसानों की चिंता है कि नए एक्ट से APMC ख़त्म हो जाएगी. भारत सरकार इस बात पर विचार करेगी कि APMC सशक्त हो और APMC का उपयोग और बढ़े।”

बैठक के बाद तोमर ने कहा कि बातचीत सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई और दोनों पक्षों ने तर्क के साथ अपनी अपनी बातें रखीं। उन्होंने कहा कि किसान संगठनों ने कई बिंदुओं को उठाया है सरकार उस विचार करेगी। फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था जारी रहेगी। नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, “आज बैठक का चौथा चरण समाप्त हुआ है। परसों (5 दिसंबर) दोपहर में 2 बजे यूनियन के साथ सरकार की मुलाकात फिर होगी और हम किसी अंतिम निर्णय पर पहुंचेंगे।”

यह भी पढ़े: गोंडा पुलिस की बड़ी कार्यवाई, टॉप टेन अपराधी की नौ करोड़ की संपत्ति कुर्क

 

Related Articles