महिला के ‘कैरेक्टर’ को लेकर भतीजे ने रची शूटआउट की कहानी, पढ़िए ये खबर

गोरखपुर में थाई महिला की हत्या चरित्र पर शक होने की वजह से हुई थी

योगी के गढ़ गोरखपुर में थाई महिला की हत्या चरित्र पर शक होने की वजह से हुई थी. भ​तीजे ने ही शूटरों के माध्यम से गोली मरवाकर बड़हलगंज की महिला की हत्या कराई थी. एसओजी व बड़हलगंज पुलिस ने बुधवार को हत्या के आरोप में दो सगे भाईयों व एक प्रधान समेत तीन को गिरफ्तार कर लिया. वहीं हत्या में शामिल दो शूटरों ने अवैध असलहे के साथ बलिया के उभांव थाना क्षेत्र में एक दिसम्बर को खुद को गिरफ्तार करवाया था. बड़हलगंज पुलिस उन्हें रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी. उधर, हत्या की पूरी योजना बनाने वाला भतीजा वर्तमान में कोरिया में है. घटना से काफी पहले ही वह कोरिया चला गया था.

घर में घुसकर की थी हत्या

एसएसपी डा. विपिन ताडा ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि बड़हलगंज के सिधुवापर में घर में घुसकर 22 नवंबर को पुष्पा यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. हत्या करने वाले बाइक सवार आरोपितों की तस्वीर सीसी टीवी कैमरे में कैद हो गई थी. बड़हलगंज पुलिस के साथ ही एसओजी टीम उनकी तलाश में लगी थी. पुलिस के मुखबिर ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर एक व्यक्ति की पहचान की और पता चला कि वह बड़हलगंज के मरवटिया गांव निवासी उमेश यादव उर्फ अजीत यादव है.

हत्या की दी थी सुपारी

मृतका पुष्पा यादव मूलरूप से देवरिया के मदनपुर थाने के फकईपुर की रहने वाली थी. उसका भतीजा गोपाल यादव कोरिया में रहता है. पुलिस के मुताबिक 2017 में पुष्पा के पति की मौत हो गई. पति के मौत के बाद पुष्पा कुछ लोगों से मिलती-जुलती थी. यह बात गोपाल व उसके घरवालों को नहीं पसंद थी. घरवालों के विरोध की वजह से उसने गांव से हटकर बड़हलगंज के सिधुआपार में घर बनवाया था. घरवालों ने कई बार पुष्पा को मना भी किया, लेकिन वह नहीं मानी. इसे लेकर गोपाल ने उसके हत्या की सुपारी दी.

यह भी पढ़ें– ‘विल यू मैरी मी’ कहने वाला शिक्षक अरशद पहुंचा हवालात, पढ़िए पूरी खबर

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles