अब यूपी में अपराधियों की खैर नहीं, बना नया कानून

0

लखनऊ। अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए योगी सरकार ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है। योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुयी कैबिनेट मीटिंग में यह फैसला लिया गया। ये नया कानून महाराष्ट्र कण्ट्रोल ऑफ़ आर्गनाइज्ड क्राइम एक्ट (मकोका) की तरह ही होगा और इसका नाम पर उत्तर प्रदेश कण्ट्रोल ऑफ़ आर्गनाइज्ड क्राइम एक्ट (यूपीकोका) रखा गया है ।

विधानसभा के आगामी सत्र में इसका मसौदा पेश किया जाएगा। जहां कैबिनेट ने इस कानून को मंजूरी दिलाई जाएगी। विधानसभा का शीतकालीन अधिवेशन गुरुवार को शुरू हो रहा है।  इस कानून को यूपी में लाने के लिए पहले महाराष्ट्र, गुजरात और कर्नाटक में लागू कानून का अध्ययन किया

यूपी सरकार के सामने कानून व्यवस्था एक चुनौती बनाकर खड़ी हो गई है। जिस कानून व्यवस्था को लेकर बीजेपी ने यूपी में बहुमत साबित की उसी कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष के निशाने पर है। अब योगी सरकार इस मुद्दे को लेकर गंभीर है इसलिए अपराध पर पूरी नियंत्रण करने के लिए सरकार यूपीकोका लेकर आरही है।

इसके तहत संगठित अपराध जैसे अंडरवर्ल्ड से जुड़े अपराधी और उनको संरक्षण देने वालों, जबरन वसूली, फिरौती के लिए अपहरण, हत्या या हत्या की कोशिश, धमकी, उगाही सहित ऐसा कोई भी गैरकानूनी काम जिससे बड़े पैमाने पर पैसे बनाए जाते हैं, जैसे मामलों में यह एक्ट लागू होगा। इसमें पांच से लेकर 25 लाख रुपये तक का जुर्माना हो सकता है। साथ ही तीन साल से लेकर उम्रकैद और फांसी तक की सजा हो सकती है। प्रदेश में लगातार बढ़ रहे अपराधों पर नियंत्रण में यह कानून काफी असरकारक होगा।

loading...
शेयर करें