कोरोना से हुई मौतों के बाद आई नई आफत, लखनऊ में इस बीमारी के मरीज 400 पार

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ अभी कोरोना से हुई मौतों के कहर के दर्द से उभरी भी नहीं थी कि अब बदलते मौसम में वायरल की बीमारी ने पैर पसारना शुरू कर दिया है। लखनऊ के कई सरकारी अस्पतालों में 40 बच्चों समेत 400 मरीज भर्ती हुए है, ये सभी मरीज वायरल से संक्रमित हुए है।

अस्पतालों के ओपीडी में 20% मरीज सर्दी, बुखार और कन्जेशन के भर्ती हो रहे हैं। हालांकि, डॉक्टरों का कहना है कि यह सीजनल फ्लू है इस वजह से मरीज बढ़ रहे है।वायरल के मरीज अचानक बढ़ने से अस्पतालों में दहशत का माहौल बना हुआ है।

वहीं कोरोना से सावधान रहने के लिए अस्पतालों में निर्देश दिए गए हैं कि ओपीडी में इलाज मरीजो के इलाज से पहले कोरोना का एंटीजन टेस्ट कराया जाए। अस्पताल से मिली जानकारी के मुताबिक, पिछले हफ्ते से वायरल के केस में करीब 15% की बढ़ोतरी हुई है। वहीं, अगस्त के तीसरे हफ्ते तक बुखार के मरीजों की संख्या 5% थी।

लखनऊ के इन अस्पताल में बढ़े मरीज

लखनऊ के बलरामपुर हॉस्पिटल, सिविल हॉस्पिटल और लोहिया इंस्टीट्यूट में वायरल के मरीज बड़ी संख्या में भर्ती हो रहे है। यहां ओपीडी में 300 से ज्यादा मरीज बुखार की समस्या से पीड़ित है। महानगर भाऊराव देवरस, रानी लक्ष्मीबाई, लोकबंधु, राम सागर मिश्रा और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी बुखार के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

बुखार से 50 की मौत, तीन डॉक्टर निलंबित

फिरोजाबाद में बुखार से 50 मरीजो की मौत हो गई है। पिछले 24 घंटे में 6 और लोगों की मौत हुई है। मरीजो के इलाज में हुई लापरवाही के आरोप में डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट चंद्र विजय सिंह ने तीन डॉक्टरों को निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने आदेश दिया है कि अगर किसी भी मरीज के इलाज में लापरवाही बरती गई तो डॉक्टरों पर सख्त कार्रवाई होगी बुधवार तक वायरल से 41 की मौत हुई थी और देर रात 4 और लोगों ने दम तोड़ दिया। इसके बाद गुरुवार को दो बच्चों की मौत हो गई।

 

Related Articles