ब्रिटेन में बनेगी नई गोरखा बटालियन, गोरखा की बहादुरी और बलिदान को देखकर हुए प्रभावित

0

लंदन: यूनाइटेड किंगडम में थेरेसा मे की सरकार ने सोमवार को रॉयल गोरखा रायफल्स की एक नई बटालियन बनाने की घोषणा की। उनकी बहादुरी का इतिहास ईस्ट इंडिया कंपनी के साथ शुरू होकर दो विश्व युद्धों और कई समकालीन लड़ाइयों में देखा गया है। इस साल तीसरी बटालियन रॉयल गोरखा राइफल्स को एक विशिष्ट इन्फैंट्री बटालियन के रूप में स्थापित किया जाएगा। रक्षा मंत्रालय ने घोषणा की है कि उनकी भर्ती इस वर्ष शुरू होगी।

गोरखा रेजिमेंट

सभी गोरखा सैनिकों की भर्ती नेपाल में की जाएगी। अधिकारियों ने कहा कि बटालियन को पांच स्पेशलाइज्ड इन्फैन्ट्री बटालियन के रूप में स्थापित करने की योजना है। रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि 200 से अधिक वर्षों में गोरखा, ब्रिटिश सशस्त्र बलों का एक अभिन्न अंग रहे हैं। बुनियादी प्रशिक्षण में उन्होंने 100 फीसद पास होकर असाधारण सैन्य योग्यता का प्रदर्शन किया है।

इसके अलावा मंत्रालय ने कहा कि यह ब्रिटिश सेना को प्रदान की जाने वाली कुछ गोरखा इकाइयों जैसे यूके के नेतृत्व वाले नाटो एलाइड रैपिड रिएक्शन कॉर्प्स के सपोर्ट को भी बढ़ाएगा। इसके अलावा अतिरिक्त गोरखा इंजीनियर और सिग्नल स्क्वाड्रन की स्थापना की जाएगी।

सशस्त्र बलों के मंत्री मार्क लैंकेस्टर ने कहा कि “गोरखाओं ने सदियों से सेवा और बलिदान के जरिये सैनिकों के रूप में अपने कौशल और बहादुरी से उत्कृष्ट प्रतिष्ठा हासिल की है। वे यूनाइटेड किंगडम और ब्रिटिश सेना के लिए अद्वितीय विशेषज्ञता दिखाते हैं। यह उन्हें रॉयल गोरखा राइफल्स की तीसरी बटालियन बनाने के लिए एक आदर्श विकल्प बनाता है, जो कि एक विशिष्ट इन्फैंट्री बटालियन है।

रॉयल गोरखा राइफल्स के प्रमुख जनरल गेज स्ट्रिकलैंड ने कहा कि विशेष पैदल सेना की भूमिका रोमांचक और चुनौतीपूर्ण है। हम नए कौशल सीखने और दुनिया भर में नई साझेदारी बनाने के लिए तत्पर हैं क्योंकि हम नया कार्य शुरू करते हैं।

loading...
शेयर करें