IPL
IPL

New India’s New UP: योगी सरकार के 4 साल हुए पूरे, जानें Government of Uttar Pradesh की उपलब्धियां

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी सरकार के 4 साल पूरा हो गए हैं। सीएम योगी ने इस मौके पर किया 'विकास पुस्तिका' का विमोचन किया

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में मुख्यमंत्री योगी (CM Yogi Adityanath) सरकार के 4 साल पूरे हो गए हैं। सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश सरकार के सफलतापूर्वक चार वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर ‘विकास पुस्तिका’ (Development Booklet) का विमोचन किया है। इस मौके पर उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की नई कार्य-संस्कृति को श्रेय जाता है कि कोरोना (Corona) जैसे आपदाकाल में भी यह राज्य, राष्ट्रीय पटल पर एक समृद्ध राज्य के तौर पर उभरा है।

उ.प्र को नई पहचान

4 वर्षों पहले उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का दायित्व हमारी सरकार ने संभाला और पिछले 4 वर्षों के दौरान PM मोदी, अमित शाह, BJP के सभी नेता और प्रदेश के मंत्रिमंडल के सहयोग से हमने जो प्रदेश में परिवर्तन किया। उससे उ.प्र को एक नई पहचान मिली है। आज उ.प्र (U.P.) देश की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में उभरा है।

राज्य सरकार के 4 साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बोला कि पिछले 4 वर्षों में, यूपी (UP) देश के विकास इंजन के रूप में उभरा है। हमारा लक्ष्य राज्य की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था को सकल राज्य घरेलू उत्पाद जीएसडीपी (GSDP) के संदर्भ में बनाना है।

लोगों के पास मतदान के अधिकार

सीएम योगी ने कहा कि 2017 में, जब हमने सरकार बनाई, तो सड़कों, स्कूलों या किसी भी विकास कार्यों के बिना कई गांव थे। कुछ आदिवासी गांवों में, लोगों के पास मतदान के अधिकार भी नहीं थे। हमने सुनिश्चित किया कि वे मूलभूत सुविधाओं और अधिकारों से वंचित न हों। पहले राज्य के स्वास्थ्य ढांचे को सबसे कमजोर माना जाता था, लेकिन आज हमारे COVID प्रबंधन को विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ सराहा गया है, जो हमारे प्रयासों को स्वीकार कर रहा है।

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी एवं ग्रामीण) में उत्तर प्रदेश देश में पहले स्थान पर है। विश्व के सबसे बड़े अभियान स्वस्थ भारत मिशन के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में 2.61 करोड़ से अधिक शौचालयों का निर्माण किया गया है। खाद्यान्न उत्पादन में भी प्रदेश ने बेहतर प्रदर्शन किया।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हर जिला मुख्यालयों को 24 घंटे, हर तहसील मुख्यालयों 20-22 घंटे और ग्रामीण क्षेत्रों में 16-18 घंटे विद्युत की आपूर्ति करने के साथ ही 1,21,000 गांव तक बिजली पहुंचाने का काम और 1,38,00,000 ग्रामीण परिवारों को निशुल्क विद्युत कनेक्शन उपलब्ध कराने में सरकार ने सफलता प्राप्त की।

यह भी पढ़ेWorld Sleep Day: क्यो मनाया जाता है ‘वर्ल्ड स्लीप डे’ क्या है इसका इतिहास

Related Articles

Back to top button