बल्लभगढ़ हत्याकांड में नया खुलासा, परिजनों ने किया चक्काजाम

हरियाणा: फरिदाबाद जिले के बल्लभगढ़ में मिल्क प्लांट रोड के पास अग्रवाल कॉलेज के सामने सोमवार की शाम चार बजे बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा का, कार सवार दो युवकों ने अपहरण करने का प्रयास किया था। नाकाम रहने पर एक युवक ने छात्रा को गोली मार दी। जिससे छात्रा की मौत हो गई।

हत्याकांड में नया खुलासा

इस मामले में एक नया खुलासा हुआ है कि बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा निकिता तोमर के साथ अपहरण की ऐसी ही एक वारदात को आरोपी साल 2018 में पहले भी अंजाम दे चुका था। हम आपकी जानकारी के लिए बता दे की आखिर उस वक्त कार्रवाई  क्यों ? नही हुई, अगर उस वक्त आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई हो गयी होती तो आज निकिता जिंदा होती।

दो साल पहले अपहरण का प्रयास

दो साल पहले थाना शहर में परिजनों ने अपहरण के प्रयास का मामला भी दर्ज कराया था। चूंकि मामला लड़की से जुड़ा था। इसलिए परिजनों ने बात आगे नहीं बढ़ाई। पुलिस ने भी कोई कार्रवाई नहीं की और मामला रफा-दफा हो गया।

मृतका के पिता का बयान

मृतका के पिता मूलचंद तोमर ने बताया कि अगर दो साल पहले ही बात को गंभीरता से ले लेते तो आज उनकी बेटी जिंदा होती। मूलचंद एक निजी कंपनी में नौकरी करते हैं। निकिता के साथ पढ़ने वाली सहेली ने परिजन को फोन करके जानकारी दी कि उनकी बेटी को गोली मार दी है, आप जल्दी आ जाओ। पिता को कॉलेज आकर पता लगा उनकी बेटी निकिता अब नहीं रही।

परिजनों का मांग

परिजनों का आरोप है कि अगर उनकी बेटी समुदाय विशेष की होती तो उसे न्याय जरूर मिल जाता। इसी बात को लेकर परिजनों ने सोहना मेन रोड, सेक्टर-23 पर स्थित अपने घर के सोसायटी के सामने जाम लगा दिया। “परिजनों की मांग है कि आरोपियों का एनकाउंटर कर उनकी बेटी को न्याय दिलाया जाए”।

डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस को पत्र

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने निकिता हत्याकांड का संज्ञान लेते हुए। हरियाणा के ‘डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस को पत्र लिखा’ है। इस पत्र में उन्होंने दूसरे आरोपी को जल्द से जल्द पकड़ने की मांग की है।

यह भी पढ़े:पाकिस्तानः इमरान सरकार के खिलाफ एकजुट हुआ विपक्ष, रैली में की आजाद बलूचिस्तान की मांग

यह भी पढ़े:वाशिंगटन: कमला हैरिस ने बैरेट की नियुक्ति की स्वीकृति को बताया ‘गैरकानूनी’

 

Related Articles

Back to top button