यूपी में लागू नया रूल, दो से अधिक असलहा धारी नहीं दिखा सकेंगे भौकाल

असलहों के शौकीनों के लिए बड़ी खबर है कि अब योगी सरकार ने इस वर्ष नया नियम लागू करते हुए असलाह रखने की सीमा तय कर दी है।

लखनऊ: असलहों के शौकीनों के लिए बड़ी खबर है कि अब योगी सरकार ने इस वर्ष नया नियम लागू करते हुए असलहा रखने की सीमा तय कर दी है। अब उनके दिन खत्म होने वाले है जो दो से अधिक शस्त्र रखते है। योगी सरकार ने अपने नए फैसले में कहा है कि तीसरा असलाह और लाइसेंस अब सरेंडर करना होगा। उनको हर हाल में 13 दिसम्बर 2020 तक सरेंडर करना होगा। ऐसा न करने वालों पर जिला प्रशासन कार्रवाई करेगा। लखनऊ में करीब साठ हजार शस्त्र लाइसेंस हैं। इनमें से करीब एक हजार ऐसे लाइसेंसधारक हैं, जिनके पास दो से अधिक असलहे हैं।

जिला प्रशासन की तरफ से सभी शस्त्र लाइसेंस धारकों को सूचित किया गया है कि गृह मंत्रालय की ओर से जारी गजट के अनुसार 14 दिसंबर 2019 एवं आ‌र्म्स एक्ट के तहत 1959 की धाराओं में संशोधन करने के बाद नए प्राविधान जोड़े गए हैं। जिसमे किसी शस्त्र लाइसेंस धारक के पास दो से अधिक शस्त्र हैं उन्हें अपना शस्त्र को थाना, आ‌र्म्स डीलर में जमा कर लाइसेंस सरेंडर करना होगा, आपको सिर्फ दो ही शस्त्र रखने की अनुमति है।

ये भी पढ़े : IPL 2020: हैदराबाद के गेंदबाजों के आगे बैंगलोर बेबस, 132 रन का दिया टारगेट

तीसरा शस्त्र व लाइसेंस जमा करने की अंतिम तारीख 13 दिसम्बर 2020 तक रखी गयी है। प्रशासन की तरफ से दिए गये समय पर अगर असलहा नहीं जमा नहीं करते है तो आपके ऊपर कार्यवाई हो सकती है। असलहे को गैर कानूनी मानते हुए मुकदमा भी दर्ज होगा। लखनऊ में लगभग 60 हजार शस्त्र लाइसेंस हैं। इनमें से करीब एक हजार वही ऐसे लाइसेंसधारक हैं जिनके पास दो से अधिक असलहे हैं।

Related Articles

Back to top button