UP में दिखेगा ‘मिशन शक्ति’ अभियान का नया अंदाज, जारी हुए निर्देश

उत्तर प्रदेश सरकार महिलाओं की सुरक्षा और सशक्तीकरण के लिए 30 जुलाई से प्रदेश में 'मिशन शक्ति' का तीसरा चरण शुरू करने जा रही है

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार (Government of Uttar Pradesh) महिलाओं की सुरक्षा और सशक्तीकरण के लिए 30 जुलाई से प्रदेश में ‘मिशन शक्ति’ (Mission Shakti) अभियान का तीसरा चरण शुरू करने जा रही है। इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सरकार की मंशा प्रदेश की महिलाओं को शिक्षित, सशक्त, स्वाबलंबी और आत्मनिर्भर बनाना है। उनको सुरक्षा प्रदान करना, उनके स्वास्थ्य की देखभाल के साथ शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ाना है।

स्वास्थ्य विभाग से जुड़ेगा कार्यक्रम

राज्य सरकार से मिली जानकारी के मुताबिक, मिशन शक्ति के तीसरे चरण को नवीन ऊर्जा के साथ नई दिशा दी जाएगी। इस कार्यक्रम को स्वास्थ्य विभाग से जोड़ा जाएगा। जिले स्तर पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इनमें स्कूल, कॉलेज के अध्यापकों और प्रधानाचार्यों को भी जोड़ा जाएगा। स्वास्थ्य, शिक्षा, ग्राम्य विकास पंचायती राज, गृह, महिला एवं बाल विकास आदि विभागों से परस्पर समन्वय से योजना को सफल बनाने के लिए अधिकारी जुट गए हैं। सुरक्षा को लेकर संजीदा राज्य सरकार ने महिलाओं और बेटियों से जुड़े आपराधिक घटनाओं पर संवेदनशीलता के साथ त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

राज्य सरकार ने प्रदेश में मिशन शक्ति जैसे बृहद अभियान की शुरुआत कर उनके कदमों को विकास के पथ से जोड़ने का बड़ा काम किया है। इस पहल के पहले व दूसरे चरण की सफलता के बाद प्रदेश में 30 जुलाई से फिर से सरकार मिशन शक्ति के नए चरण की शुरुआत करने जा रही है। 17 अक्टूबर 2020 में सरकार ने मिशन शक्ति योजना को प्रदेश में शुरू किया था। इस योजना का अभी दूसरा चरण चल रहा है।

यह भी पढ़ेहिमाचल प्रदेश में कुदरत का कहर, 9 लोगों की मौत, इतने लापता

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles