नए साल का गिफ्ट, केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी

केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के महंगाई भत्ते में जल्द हो सकती है 4 फीसदी बढ़ोतरी

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के महंगाई भत्ते यानि के (DA) में इस साल कोई बढ़ोतरी नहीं करने का फैसला लिया है लेकिन नए साल में चार फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है।

जुलाई में बढ़ोतरी

सरकार केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के महंगाई भत्ते डीए में इस साल कोई बढ़ोतरी नहीं करने का फैसला कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए लिया है। लेकिन, नए साल के जुलाई महिने में महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी की उम्मीद की जा सकती है।

पेंशनर्स को मुनाफा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक,  अगर महंगाई भत्ता चार फीसदी की दर से बढ़ाया जाता है, तो इससे सीधे तौर पर करीब 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और 61 लाख पेंशनर्स को मुनाफा होगा। सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर जून 2021 तक के लिए भत्ते में बढ़ोतरी पर रोक लगाया हुआ है। कर्मचारियों को पिछली दर के हिसाब से 17 फीसदी DA का भुगतान किया जा रहा है।

डीए में चार फीसदी वृद्धि

मार्च में सरकार ने केंद्रीय सरकार के कर्मचारियों के डीए में चार फीसदी की वृद्धि की थी। अप्रैल में सरकार ने कोरोना महामारी का हवाला देते हुए इसे नए साल जून 2021 से लागू करने का फैसला किया था।

कर्मचारियों को 2,791 करोड़ का भुगतान

इससे पहले सरकार ने दशहरे से पहले पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में रेलवे, रक्षा, डाक, ईपीएफओ समेत वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों के गैर-राजपत्रित कर्मचारियों के लिए साल 2019 से 2020 के लिए उत्पादकता (पीएलबी) का भुगतान करने के लिए मंजूरी दे दी थी। इससे 16.97 लाख कर्मचारियों को 2,791 करोड़ रुपए का भुगतान होगा।

लाख कर्मचारियों के लिए बोनस

दीवाली पर सरकार ने 30 लाख कर्मचारियों के लिए बोनस का ऐलान किया था। इसके साथ ही सरकार ने लीव ट्रैवल अलाउंस और लीव ट्रैवल कन्सेशन पर अहम फैसले लिए हैं। सरकार ने हाल ही में पेंशनर्स के लाइफ सर्टिफिकेट सबमिशन को लेकर भी अहम फैसला लिया है।

यह भी पढ़े:‘राष्ट्रीय प्रेस दिवस’ पर अमित शाह ने बोला, मीडिया से राष्ट्र की नींव मजबूत

यह भी पढ़े:देवरिया में पशु तस्कर गिरफ्तार, ट्रक में लदे 53 गोवंशी बरामद

Related Articles

Back to top button