सोशल मीडिया पर आग की तरह फैली अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर, लोग दे रहे श्रद्धांजलि

नई दिल्ली। कल शाम से सोशल मीडिया पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर वायरल हो रही है। सभी लोग बिना सच्चाई जाने उन्हें श्रद्धांजलि देने में लगे हैं। हालांकि 93 साल के अटल जी की मौत की खबर हमेशा की तरह इस बार भी अफवाह निकली।

अटल बिहारी वाजपेयी

वैसे ये कोई पहली बार नहीं है इससे पहले भी कई बार पूर्व प्रधानमंत्री के निधन की झूठी खबर वायरल हो चुकी है। बता दें कि सितंबर 2015 में भी इस तरह की अफवाह उड़ी थी और उड़ीसा के बालासोर जिले के एक प्राइमरी स्कूल में तो श्रद्धांजलि सभा तक का आयोजन कर दिया गया था। वाजपेयी को श्रद्धांजलि के बाद स्कूल की छुट्टी भी कर दी गई थी। जब निधन की खबर झूठी निकली तो जिला कलेक्टर ने स्कूल प्राचार्य को निलंबित कर दिया था।

आपको बता दें कि वाजपेयी बीते कुछ सालों से बीमार चल रहे हैं। भारतीय राजनीतिक इतिहास में उनको एक कुशल राजनीतिज्ञ, भाषाविद, कवि और पत्रकार के रूप में जाना जाता है। वह एक ऐसे नेता रहे हैं जिन्हें जनता के साथ-साथ हर पार्टी के लोग पसंद करते हैं।

अटल बिहारी वाजपेयी

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में हुआ था। उनके पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी शिक्षक थे। उनकी माता कृष्णा जी थीं। वैसे मूलत: उनका संबंध उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के बटेश्वर गांव से है। लेकिन, पिता जी मध्यप्रदेश में शिक्षक थे। इसलिए उनका जन्म वहीं हुआ। लेकिन, उत्तर प्रदेश से उनका राजनीतिक लगाव सबसे अधिक रहा। प्रदेश की राजधानी लखनऊ से वे सांसद रहे थे।

अटल बिहारी वाजपेयी ने अपनी राजनीतिक कुशलता से भाजपा को देश में शीर्ष राजनीतिक सम्मान दिलाया। दो दर्जन से अधिक राजनीतिक दलों को मिलाकर उन्होंने राजग बनाया जिसकी सरकार में 80 से अधिक मंत्री थे, जिसे जम्बो मंत्रीमंडल भी कहा गया।

Related Articles