कोरोना की इस लड़ाई में NGO ने बढ़ाया हाथ, कॉलेज में बनाया अस्पताल

खलीलाबाद: कोरोना महामारी की इस लड़ाई में एक एनजीओ जंग लड़ने को तैयार है। पूरे देश मे कोरोना की दूसरी लहर ने तबाही मचा रखी है। ऐसे में कई खबरें सामने आती है कि अस्पतालों में बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन के अलावा इलाज में कई कमियां पाई जाती है। ऐसे में उत्तर प्रदेश के खलीलाबाद में एक एनजीओ (NGO) प्रभा सेवा समिति इस शहर में 22 सालों से काम कर रही है। इस एनजीओ (NGO) ने लोगो को बचाने के लिए एक नया अस्पताल तैयार किया है। जिसमे हर तरह की सुविधा दी जाएगी।

एनजीओ प्रभा सेवा समिति के वैभव चतुर्वेदी ने बुधवार को मीडिया में बताया है कि हमारे जनपद में जब कोरोना महामारी ने विकराल रूप धारण कर लिया तो हमने देखा कि लोगो के इलाज के लिए बेड, वेटनीलेटर और ऑक्सीजन के अलावा इलाज में कई कमी आ रही थी। ऐसे में हमारी टीम ने फैसला किया कि एक कॉलेज है जो दो साल से बंद है, इसलिए इसका इस्तेमाल लोगो की इलाज में लगाया जाएगा।

ये भी पढ़ें: 10वीं पास के लिए पैरामिलिट्री में शामिल होने का सुनहरा मौका, यहाँ ले पूरी जानकारी

कॉलेज में बनाया अस्पताल

इस कॉलेज का निरीक्षण करने के बाद इसे 15 दिन में तैयार किया गया है। अभी इसमें लगभग दो या तीन का काम बचा है। इसे कम्प्लीट होने के बाद जिला प्रशासन को सौंप दिया जाएगा। जिससे कि प्रशासन इसे अपने हिसाब से लोगो को इलाज दे सके। 15 दिन के अंदर 100 बेड का अस्पताल तैयार किया है। ये एक कॉलेज की बिल्डिंग है इसमें अभी कॉलेज नही चल रहा है तो इसमें अस्पताल बनाया गया।

ये भी पढ़ें: कब है अक्षय तृतीया, जानें क्यों खरीदा जाता है इस दिन सोना, क्या है पूजन विधि

लोगो से की अपील

वैभव ने कहा, इसे हमारी टीम ने निजी विद्यालय में इस अस्थायी अस्पताल को बनवाया है ताकि हमारे खलीलाबाद के लोग इस महामारी में अस्पताल और अपने उपचार की जगह पा सकें। हर वक़्त, हर दिन कोरोना के खिलाफ मेरी जंग जारी है। इसके अलावा लोगो से अपील की है कि कृपया घर पर रहें, अनावश्यक इधर उधर न निकलें। मास्क पहने और सुरक्षित रहें। हम जल्द ही इस भयानक महामारी से उबरेंगे।

 

 

Related Articles