अलगाववादी नेताओं पर दिन पर दिन कस रहा मोदी सरकार का शिकंजा, NIA ने फिर मारा छापा

0

जम्मू। पाकिस्तानी फंडिंग मामले में अलगाववादी नेताओं की मुश्किलें दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) का शिकंज दिन पर दिन कसता जा रहा है। एनआईए ने सोमवार को कश्मीर के वकील देवेंदर सिंह बहल के पैतृक आवास पर सोमवार को छापा मारा।

वकील देवेंदर सिंह बहल

अली शाह गिलानी से जुड़े होने को लेकर एक दिन पहले गिरफ्तार किया गया था

बहल को कट्टरपंथी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी से जुड़े होने को लेकर एक दिन पहले गिरफ्तार किया गया था। बहल का पैतृक घर राजौरी जिले के नौशेरा कस्बे में स्थित है। कश्मीरी अलगाववादी नेताओं के आतंकवादी गतिविधियों के वित्त पोषण में लिप्त होने को लेकर उनके खिलाफ कथित तौर पर की गई कार्रवाई के हिस्से के रूप में एनआईए ने रविवार को बहल के जम्मू के बख्शी नगर स्थित घर पर छापा मारा और उन्हें हिरासत में ले लिया था।

बहल मारे गए आतंकवादियों की अंत्येष्टि में नियमित तौर पर दिखाई देता था

एनआईए सूत्रों ने कहा कि बहल मारे गए आतंकवादियों की अंत्येष्टि में नियमित तौर पर दिखाई देता था। बहल से आतंकवादियों के वित्त पोषण को लेकर पूछताछ की जा रही है। बहल को गिलानी का करीबी माना जाता है। बहल जम्मू एवं कश्मीर सोशल पीस फोरम (जेकेएसपीएफ) का अध्यक्ष है। यह गिलानी की अगुवाई वाले कट्टवादी हुर्रियत कांफ्रेस के घड़े का एक घटक है।

इससे पहले गिलानी के करीबी के घर पर छापा पड़ा था

बहल के घर से चार मोबाइल फोन, एक टैबलेट व इलेक्ट्रॉनिक उपकरण व वित्तीय दस्तावेज तलाशी अभियान के दौरान रविवार को बरामद किए गए थे। एनआईए ने कहा कि बहल गिलानी की अगुवाई वाले हुर्रियत के विधि प्रकोष्ठ का सदस्य है। बता दें एनआईए ने रविवार को यहां कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली गिलानी के करीबी एक कारोबारी के घर छापे मारे थे।

loading...
शेयर करें