सारी कोशिशें बेकार, निर्भया का सबसे खतरनाक रेपिस्ट रिहा

dec-16-gangrape-protests_650x400_71424870608

नई दिल्‍ली। निर्भया गैंगरेप के एकमात्र आरोपी को रिहा कर दिया गया है। रिहाई के बाद नाबालिग दोषी (अब बालिग) को दिल्‍ली की एक एनजीओ के संरक्षण में रखा गया है। यह एनजीओ अगले दो साल तक उस पर कड़ी नजर रखेगा। दोषी के मां-बाप ने उसे गांव आने से मना कर दिया था। दो दिन से उसकी रिहाई के खिलाफ दिल्‍ली में जबरदस्‍त विरोध प्रदर्शन चल रहा था।

निर्भया यानी ज्‍योति सिंह की मां ने दोषी की रिहाई के बाद कहा, ‘यह सरकार की कमी की वजह से हुआ। अब जनता तय करेगी कि निर्भया के साथ इंसाफ कैसे होना है।’

ये भी पढ़े : निर्भया से नाइंसाफी के हैं ये जिम्‍मेदार

निर्भया की मां ने इस नाबालिग रेपिस्ट की रिहाई रुकवाने के लिए इंडिया गेट पर प्रदर्शन से एक आंदोलन खड़ा करने की अपील की। इसके बाद जंतर-मंतर पर भी प्रदर्शन करने की बात भी कही। लेकिन पुलिस ने इसकी मंजूरी नहीं दी है। शनिवार रात भी निर्भया के मां-बाप सड़कों पर उतर आए थे। खबर थी कि पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया था हालांकि पुलिस इससे इनकार किया था।

ये भी पढ़े : निर्भया की मां ने कहा हमको इंसाफ नहीं मिला 

रिहाई के बाद इस नाबालिग रेपिस्ट की नई पहचान जाहिर नहीं की जाएगी और उसे ऑब्जर्वेशन होम में रखा जाएगा। सोमवार को ही दिल्ली महिला आयोग की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई भी होनी है। संभवतः पुनर्वास की प्रक्रिया इस सुनवाई के बाद ही होगी। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल शनिवार आधी रात को सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस गोयल के घर गई थीं। इसके बाद ही अर्जी मंजूर हुई।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button