भाजपा से नाराज निषाद पार्टी, संजय निषाद ने कर दिया बड़ा एलान

वाराणसी: उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी चल रही है, सभी प्रमुख पार्टियों समेत बीजेपी (BJP), एआईएमआईएम, आम आदमी पार्टी और भीम आर्मी ने इस बार चुनावी मैदान में उतरने का ऐलान कर दिया हैं। पंचायत चुनाव को लेकर उत्तर प्रदेश में तैयारियां हो रही है। भाजपा (BJP) के सहयोगी निषाद पार्टी ने भाजपा पर वादाखिलाफी का आरोप लगाकर अकेले चुनाव लड़ने का आरोप लगाया है।

अकेले चुनाव लड़ने की शुरुआत त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव भाजपा से अलग होकर लड़ने से हो जाएगी। निषाद पार्टी के प्रमुख संजय निषाद ने निषाद बिरादरी के आरक्षण को लेकर भाजपा पर कई आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा, भाजपा ने उनसे जो वादे किये उन्हें पूरा नहीं किया। साल 2019 में उनकी पार्टी ने निषादों के आरक्षण के मामले को लेकर ही भाजपा से जुड़े थे। इस मुद्दे पर उन्होंने ने कई बार भाजपा के बड़े नेताओं से बात की। प्रदेश सरकार से भी मांग की गई, लेकिन आरक्षण की मांग पर कुछ भी नहीं हुआ।

ये भी पढ़ें : नहीं बदलेगा मौसम का मिजाज, बारिश के बाद बढ़ेगी अधिक ठंड

भाजपा ने वादा नहीं किया पूरा

संजय निषाद ने कहा कि निषादों के आरक्षण का मामला खत्म करने का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भरोसा दिया था। लेकिन अभी तक सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही है और सरकार से बात कर रहे हैं। नेताओं को भी इसकी जानकारी दे रहे हैं, मगर भाजपा वादा पूरा नहीं कर रही है।

ये भी पढ़ें : उत्तर प्रदेश सरकार ने किया बड़ा फेरबदल, इन आईएएस अधिकारियों को मिली नई जिम्मेदारी

उन्होंने कहा कि निषाद पार्टी, भाजपा की सहयोगी पार्टियों में से एक हैं, लेकिन अब वह खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे हैं। निषाद ने ऐलान किया कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश के आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की हर सीट पर उम्मीदवार उतारेगी। उन्होंने भाजपा से मांग की कि वह किसानों के मुद्दों को बातचीत के जरिए जल्द हल करे।

 

Related Articles

Back to top button