आरक्षण की आवाज बुलंद करने के लिए मुकेश सहनी ने निषाद समाज से की अपील

0

मधेपुरा : आबादी रहने के बावजूद निषाद समाज का कोई नेता राष्ट्रीय स्तर पर नहीं पहुंच सका है, इसी कारण आज हमें आरक्षण का लाभ नहीं मिल रहा है।”

निषाद आरक्षण की आवाज बुलंद करने के लिए ‘निषाद आरक्षण संवाद बस यात्रा’ पर निकले निषाद विकास संघ के अध्यक्ष मुकेश सहनी ने मधेपुरा में गुरुवार को निषाद समाज के लोगों को सत्ता में भागीदारी के लिए आगे बढ़ने की अपील की।

इससे पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, निषाद आरक्षण संवाद बस यात्रा मधेपुरा में पहुंची, जहां लोगों ने सहनी का जोरदार स्वागत किया। सहनी ने कहा कि इस बस यात्रा का उद्देश्य निषाद आरक्षण की लड़ाई को घर-घर तक पहुंचाकर इसे मूर्त रूप देना है।

इस यात्रा के दौरान अत्याधुनिक बस पर ‘सन ऑफ मल्लाह’ के नाम से चर्चित सहनी के अलावे संघ के कई वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे। बस यात्रा गम्हरिया से शुरू होकर सिंघेश्वर, मधेपुरा, मानिकपुर, ग्वालपाड़ा, झलाड़ी, उदाकिशुनगंज, बाराटैनी के रास्ते आलमनगर में समाप्त हुई।

इस मौके पर सहनी ने कहा, “हमलोग आज राजनीतिक और सामाजिक स्तर पर पिछड़े हुए हैं, जिस कारण राष्ट्रीय स्तर पर हमारी पहचान नहीं बन रही है।” उन्होंने लोगों से अपने बच्चों के शिक्षा के प्रति सजग रहने की अपील करते हुए कहा कि ‘समाज शिक्षित होगा तभी हम आगे बढ़ सकेंगे।’

उन्होंने सरकार से निषाद समाज के लिए आरक्षण की मांग करते हुए कहा कि देश के कई राज्यों में निषाद को आरक्षण दिया जा रहा है, आखिर क्या कारण है कि बिहार में हमें आरक्षण नहीं मिल रहा।

सहनी ने कहा कि यह यात्रा बिहार के प्रत्येक जिलों से होकर गुजरेगी तथा आगामी चार नवंबर को पटना के गांधी मैदान में लाखों लोगों की उपस्थिति में राजनीतिक पार्टी के नाम की घोषणा की जाएगी। यह यात्रा कुल नौ चरणों में बिहार के सभी जिलों में पहुंचेगी। इस यात्रा की शुरुआत एक सितंबर को पटना से हुई थी।

ये भी पढ़ें……समलैंगिकता : शशि थरूर ने जताई खुशी, कहा- बेडरूम में सरकार के लिए कोई जगह नहीं

इस मौके पर संघ के उपाध्यक्ष शशिभूषण सिंह उर्फ लड्डू सिंह निषाद, प्रदेश युवा सचिव ब्रह्मदेव कुमार सहनी, संघ के जिला अध्यक्ष संजय कुमार सहनी सहित बड़ी संख्या में निषाद समाज के लोग उपस्थित थे।

loading...
शेयर करें