IPL
IPL

‘मेरे घर 12 मंजिल सीढ़ियां चढ़कर ‘पद्मभूषण’ मांगने आई थीं आशा पारेख’

gadkari-parekh-580x395नई दिल्ली केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने पद्म पुरस्कारों को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि पद्म पुरस्कारों के लिए लोग पीछे पड़ जाते हैं। गडकरी ने पुराने जमाने की मशहूर अभिनेत्री आशा पारेख को लेकर कहा कि वह उनसे पद्मभूषण मांगने आईं थी।

सिफारिशें नेताओं के लिए सिरदर्द बन गई है

गडकरी ने एक वाकया का जिक्र किया जिसमें उन्‍होंने बताया कि एक दिन मुंबई में आशा पारेख उनके घर आईं। लिफ्ट खराब थी। फिर भी 12 फ्लोर सीढ़ियां चढ़कर आशा पारेख उनके घर पहुंची। कहा कि मुझे पद्मश्री मिला है लेकिन मुझे फिल्मों में मेरे योगदान देखते हुए पद्मभूषण मिलना चाहिए। ये कहानी सुनाते हुए गडकरी ने ये भी कहा है कि पद्म पुरस्कारों के लिए होने वाली सिफारिशें नेताओं के लिए सिरदर्द बन गई हैं।

कौन हैं आशा पारेख?

आशा पारेख गुजरे जमाने की मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री हैं। उन्‍होंने 1952 में एक बाल कलाकार के तौर पर अपने अभिनय की शुरुआत फिल्म ‘आसमान’ से की थी। 1959 से लेकर 1973 तक उन्होंने कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया। 1992 में आशा पारेख को पद्मश्री अवार्ड से नवाज़ा गया। आशा पारेख को हिंदी सिनेमा की सबसे सफल और प्रभावी अभिनेत्रियों में गिना जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button