नीतीश कुमार का दावा -बिहार में राष्ट्रीय औसत से ज्यादा हो रही है कोरोना की जांच

 Patna : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज कहा कि राज्य में कोविड-19 की रोकथाम के लिए सरकार की ओर से किए जा रहे प्रयासों का ही नतीजा है कि अब प्रदेश में कोरोना की जांच और स्वस्थ होने की दर राष्ट्रीय औसत से भी अधिक हो गई है।

नीतीश कुमार ने मंगलवार को स्वास्थ्य, पथ निर्माण, नगर एवं आवास, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन, जल संसाधन और पर्यटन विभाग से संबंधित 7600 करोड़ रुपए से अधिक की योजनाओं का उद्घाटन, कार्यारंभ और शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान कहा कि बिहार में अब प्रतिदिन कोरोना की जांच एक और डेढ़ लाख नहीं बल्कि दो लाख के करीब हो रही है। सोमवार को एक लाख 94 हजार 88 सैंपल की जांच की गई। देश के किसी भी प्रांत में इतना टेस्ट एक दिन में नहीं किया गया है।

इसे भी पढ़े: बिहार चुनाव: चुनाव आयोग के नए नियम से दागदार प्रत्याशियों की राह होगी कठिन

मुख्यमंत्री ने कहा कि इनमें आरटीपीसीआर जांच की संख्या 11 हजार 732 है। इस संख्या को राज्य सरकार 23 हजार तक ले जाने वाली है और इसके लिए केंद्र से भी मशीन मिलने वाली है और साथ ही राज्य सरकार भी अपने स्तर से मशीन की खरीद कर रही है। इनमें ट्रूनेट से तीन हजार 982 जांच की गई है। एक लाख 78 हजार 374 एंटीजन टेस्ट किया गया है। उन्होंने कहा कि बिहार में अब तक 60 लाख 63 हजार 568 सैंपल के जरिए कोरोना की जांच हो चुकी है। सरकार का मानना है जितनी जांच होगी उतना ही कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकेगा।

Related Articles

Back to top button