नीतीश कुमार आज लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ, मंजू देवी और तार किशोर बन सकते हैं डिप्टी सीएम

एनडीए की बहुमत के साथ जीत के बाद आज शाम को बिहार में नीतीश कुमार मुखयमंत्री पद की शपथ लेंगे। और उनके साथ 16 और नेता भी मंत्री पद की शपथ लेंगे।

बिहार: एनडीए की बहुमत के साथ जीत के बाद आज शाम को बिहार में नीतीश कुमार मुखयमंत्री पद की शपथ लेंगे। और उनके साथ 16 और नेता भी मंत्री पद की शपथ लेंगे। इस बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार विधानसभा में सातंवी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। बिहार के राज्यपाल फागू चौहान नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री पद की और गोपनीयता की शपथ दिलायेंगे।

मंजू देवी और तार किशोर बन सकते हैं डिप्टी सीएम

डिप्टी सीएम पद के लिए बीजेपी के नेता तार किशोर प्रसाद और मंजू देवी के नामसबसे आगे चल रहे हैं। परन्तु डिप्टी सीएम पद के लिए बीजेपी ने इन दोनों नामों पर अपना कोई स्पष्ट बयान नही दिया है। बाकि के मंत्रियों के नाम को भी अभी तक स्पष्ट रूप से सार्वजनिक नहीं किया गया है। बिहार की राजनीति में इस बार किस किस के हाथ में बागडौर सोंपी जाएगी यह अभी तक पूरी तरह से पता नहीं चल पाया है।

जेपी नड्डा और अमित शाह भी होंगे शपथ ग्रहण में शामिल

सोमवार शाम को बिहार विधानसभा में हो रहे शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, भारत के गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी संगठन के महासचिव बीएल संतोष भी शामिल हो रहे हैं। बिहार विधामसभा चुनाव में अमित शाह ने चुनाव प्रचार नहीं किया था। गृहमंत्री अमित शाह ने इस बार बिहार में कोई भी रैली नहीं की थी। इसके साथ ही कई और मंत्री भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे।

बीजेपी और जेडीयू से 7-7 सदस्य ले सकते हैं मंत्री पद की शपथ

यह अभी तक नही पता चल पाया कि कौन कौन मंत्री पद की शपथ ले रहा परन्तु सूत्रों की मानें तो बीजेपी अपनी पार्टी से सात सदस्यों को मंत्री पद दे सकती है जिसमें उप मुख्यमंत्री पद के लिए तार किशोर प्रसाद और मंजू देवी का नाम भी शामिल है। इसके साथ ही जेडीयू से भी सात लोग मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं जिनमें बिजेंद्र यादव, विजय चौधरी और श्रवण कुमार जैसे नेता शामिल हैं जबकि एक एक सदस्य एचएएम और वीआईपी पार्टी से भी मंत्री मंडल में अपनी जगह बना सकते हैं जिसमें वीआईपी पार्टी के अध्यक्ष मुकेश सहनी खुद मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें: भारत ने पाकिस्तान के आरोपों को किया खारिज, कहा- ‘सबूत होने का दावा काल्पनिक है’

Related Articles

Back to top button