नीतीश-राहुल की मुलाकात के दौरान उठा तेजस्वी यादव का मुद्दा, महागठबंधन पर हुआ बड़ा फैसला

0

नई दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार शाम को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। वह साथ ही राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के लिए आयोजित विदाई भोज में भी शामिल हुए। नीतीश कुमार और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बीच तेजस्वी पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर चर्चा हुई है।

नीतीश कुमार

सार्वजनिक जीवन में शुचिता और शुद्धता का ख्याल रखना ही होगा

समझा जाता है कि इस बैठक के दौरान नीतीश ने राहुल से साफ कहा है कि सार्वजनिक जीवन में शुचिता और शुद्धता का ख्याल रखना ही होगा। नीतीश के एक करीबी नेता ने बातचीत में कहा कि सीएम ने राहुल गांधी को अध्यादेश फाड़ने वाले दिन की भी याद दिलाई। सीएम ने राहुल गांधी से कहा कि पार्टी को तेजस्वी यादव के मुद्दे पर स्टैंड जनता के बीच रखना चाहिए।

नीतीश -राहुल की बैठक में तत्काल कोई निर्णायक फैसला नहीं लिया गया

तेजस्वी के इस्तीफे पर नीतीश-राहुल की बैठक में तत्काल कोई निर्णायक फैसला नहीं लिया गया। मगर दोनों नेता सिद्धांत रुप से इस बात से सहमत थे कि महागठबंधन को बचाए रखने की सबकी बराबर की जिम्मेदारी है। राहुल गांधी के 12 तुगलक लेन स्थित सरकारी निवास पर नीतीश और राहुल की करीब 40 मिनट की मुलाकात के दौरान शुरू के दस मिनट कांग्रेस के प्रभारी महासचिव सीपी जोशी मौजूद रहे।

तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार से उनके ऑफिस में 35 मिनट तक मुलाकात की थी

गौरतलब है कि इस हफ्ते की शुरुआत में तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार से उनके ऑफिस में 35 मिनट तक मुलाकात की थी और माना जा रहा है कि इस मुलाकात के दौरान तेजस्वी ने अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के सभी आरोपों पर स्पष्टीकरण दिया था। मुलाकात के बाद यह कयास पर लगाए जा रहे थे कि तेजस्वी यादव के इस्तीफे का मुद्दा अब शांत हो गया है और जेडीयू और आरजेडी के बीच तनातनी की स्थिति भी खत्म हो गई है। लेकिन ऐसा हुआ नहीं और इस मुलाकात के अगले दिन से ही जेडीयू के सभी प्रवक्ता लगातार तेजस्वी पर भ्रष्टाचार के लगे आरोपों पर जवाब देने का दबाव बना रहे हैं।

loading...
शेयर करें